उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप (High low blood pressure)को जड़ से ठीक करे

2640
उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप (High, low blood pressure)की समस्या -आज पूरी दुनियाँ मे उच्च रक्त चाप यानि की Hypertension एक गंभीर समस्या बनी हुई है। आम भाषा में हम इसे High Blood Pressure (BP) कहते है।
यह एक जानलेवा बीमारी है। High Blood Pressure एक शांत ज्वालामुखी की तरह है जिसमे बाहर से कोई लक्षण या खतरा नहीं दिखाई नहीं देता पर जब यह ज्वालामुखी फटता है तो हमारे शरीर पर लकवा और हार्ट अटैक जैसे गम्भीर परिणाम हो सकते है।
पहले यह माना जाता था की यह समस्या उम्रदराज लोगो की समस्या है लेकिन बदलते माहौल मे Hypertension की समस्या बच्चो और युवाओ मे भी फैलती जा रही है।

जब भी हमें ऐसी प्रोबलमस होती है हाई ब्लड प्रेशर, लो ब्लड प्रेशर तो जल्दी से जल्दी हम उसे ठीक करने के लिए डॉक्टर्स को दिखाते है और दवाओं का सेवन करते है।

ध्यान से समझिएगा जो हम आपको बता रहे है, दवाओं का सेवन करने के बाद भी यह समस्या हमे वापिस होती है। यानि कि जब तक हम दवाओं का सेवन करते रहेंगे तब तक हम ठीक रहेंगे और जैसे ही दवाओं का सेवन बंद करते है यह समस्या फिर से होने लगती है।

क्या आप जानते है ऐसा क्यों होता है? क्योकि जब हमे कोई भी रोग होता है या कोई भी बीमारी होती है तो हम सीधा डॉक्टर के पास जाते है। हम ये नही सोचते की आखिर ये रोग, ये बीमारियाँ, ये हाई ब्लड प्रेशर, लो ब्लड प्रेशर मुझे क्यों हुआ है?

एक बात का ध्यान रखे दोस्तों की कोई भी रोग, कोई भी बीमारी बिना वजह के हमारे शरीर में नही होती है। हमने खानपान में कहीं न कहीं गड़बड़ जरुर की है जिसकी वजह से ही हमें इन रोगो और बीमारियों से जूझना पड़ता है। लेकिन बिगड़ी जीवनशेली ख़राब आदतों के कारण लोग ये तक भूल जाते की उन्हें रोग किस कारण हो रहे है।

कोई भी रोग हो तो उसका कारण जरुर होता है और जिसने भी कारण को जान लिया और फिर वो उपचार करेगा तो सत प्रतिशत उसकी बीमारी भी ठीक होगी और भविष्य में दोबारा वो रोग उसको कभी नही होगा।

इसलिए हम आपको हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर होने के कारण बता रहे है की आखिर ये समस्या क्यों होती है और फिर इसका उपचार आपको बताएँगे।

पहले बात करते है हाई ब्लड प्रेशर के बारे में – दोस्तों हाई ब्लड प्रेशर में क्या होता है की जब हमारा दिल खून को सारे शरीर में सप्लाई करता है सारी नसों में सप्लाई करता है तो नसों में खून गाढ़ा होने की वजह से दिल पर दबाव बढ़ता जाता है जिससे दिल खून भेजने की गति को बढ़ा लेता है तो इसे ही हाई ब्लड प्रेशर कहते है
दोस्तों अब सबसे जरुरी बात की आखिर ये हमारी दिल की नालियों में खून गाढ़ा किस कारण होता है जिसकी वजह से हमे अनेको रोगों से जूझना पड़ता है दवाईया खानी पड़ती है।

जब हमारे पेट में अम्ल (acid) की मात्रा बढ़ जाती है तो हमें पेट से जुड़ी छोटी मोटी बीमारिया होने लगती है जैसे पेट में गैस बनना, पेट दर्द होना, अल्सर यानि पेट में छाले, रात में पेट फुल जाना जिससे नींद न आना, सांस लेने में दिक्कत।

ये सब हमारे शरीर मे एसिड अधिक मात्रा में बनने की वजह से होते है और ये ही acid अगर बढ़ते बढ़ते खून में पहुच जाता है तो हमे ब्लड एसिडिटी होती है जिसे रक्त अम्लता भी कहते है
और शरीर में रक्त अम्लता बढ़ने पर ही हाई BP की समस्या, हार्ट अटेक होना, शुगर होना, ब्लड केंसर, जैसी बड़ी बड़ी बीमारिया होने लगती है।

अब सबसे बड़ा सवाल… कि आखिर ये एसिड किस कारण बढ़ता है?

शरीर में एसिड हमारे खानपान में हुई गड़बड़ और गलत आदतों के कारण बढ़ता है।
आप बस एक बात का ध्यान रखे की जब भी भोजन करे तो भोजन में देखिये की कहीं आप ऐसी चीजे तो नही खा रहे है जिसमे एसिड की मात्रा ज्यादा हो
जैसे की अगर आप आयोडीन युक्त नमक का प्रयोग कर रहे है तो इसे तुरंत बंद कर दीजिये यह शरीर में एसिड बहुत अधिक मात्रा में बढाता है

जिससे हाई बीपी की समस्या,और हार्ट अटेक होने की सम्भावना बढ़ जाती है। तो जल्दी से आप इसका प्रयोग बंद कर दीजिये और ऐसे ही चाय, कॉफ़ी, सफ़ेद शक्कर, अचार, धुम्रपान करना, शराब पीना, सफ़ेद गुड जो आजकल मार्केट में मिलता है।

असली गुड हमेशा डार्क कलर में होता है तो आप उसे खा सकते है लेकिन सफ़ेद गुड नही खाना है। इसके अलावा सबसे ज्यादा एसिड जिस चीज को खाने से बनता है वो है refine आयल तो आप इसको तो सबसे पहेले अपने घर से बहार निकाले। तो आप पूछोगे की कोनसा तेल खाए?

आप मूंगफली का तेल या सरसों का तेल खा सकते है। ये refine आयल, डबल refine आयल इनके चक्कर में मत पड़िए। ये क्यों नही खाना खाना है ये बाद का विषय है इस पर हम फिर कभी बाद में चर्चा करेंगे। इसलिए आप इसे भूले नही
और खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने से भी पेट में एसिड बनता है और साथ ही अन्य बिमारिया भी होने लगती है तो आप इस बात का भी ध्यान रखे।

ऐसे तो बहुत सी चीजे और है जिसमे एसिड की मात्रा पाई जाती है लेकिन घरो में सबसे ज्यादा प्रयोग की जाने वाली चीजे ये ही है। इसलिए आपको यह बताना बहुत जरुरी था।

अब हाई ब्लड प्रेशर होने का कारण तो आपने जान लिया कि किस कारण किन गलतियों के कारण हमे ये समस्या होती है अब हम आपको इसके उपचार के बारे में बताते है:-

हमने पहले भी आपको बताया था की अगर बीमारी के कारण आप जान लोगे ओर फिर उपचार करोगे तो आपका रोग शत प्रतिशत ठीक होगा इसलिए अभी जो कारण हमने आपको बताये है इनको गंभीरता से आपको लेना है और फिर ही दवा का सेवन करना है।

दोस्तों कारणों को अगर आप गंभीरता से लेंगे और अपने जीवन में बदलाव करेंगे तो ये रोग ये बीमारिया तो आपको वैसे भी नही होगी। इसीलिए दवा से ज्यादा कारणों पर जोर देना आवश्यक है।

अब आइये बात करते हैं इसकी दवा की यानि हाई ब्लड प्रेशर में किस दवा किस ओषधि का सेवन करना चाहिए?

जब भी आपका ब्लड प्रेशर हाई होने लगे तो आप ऐसी चीजे खाइए जिसमें क्षारपन ज्यादा हो। जब हम भोजन करते है तो उसमे दो प्रकार के तत्व पाए जाते है एक तो क्षार तत्व और दूसरा अम्ल तत्व। इन अम्ल और क्षार दोनों तत्वों का हमारे शरीर में बेलेंस होना बहुत जरुरी है।

इन दोनों के सही बेलेंस से ही हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। आपको मालूम है की अम्ल ओर क्षार को एक दुसरे में मिलाते है तो क्या होता है? …न्यूट्रलाइज होता है …तो हमारे शरीर में भी ऐसा ही Same Process है। अगर अम्ल शरीर में अधिक बढ़ रहा है

तो आप अम्लीय चीजो को तो तुरंत खाना बंद कर दीजिये जो की अभी थोड़ी देर पहले हमने आपको बताया था और अम्ल बढ़ने पर ज्यादा से ज्यादा क्षारीय चीजो का सेवन करिए जिससे की आपकी बॉडी न्यूट्रलाइज हो सके और आपका अम्ल तत्व बेलेंस में आ सके।

अब आप यह सोच रहे होंगे की आखिर ये क्षारीय चीजे कोन कोन सी है? अम्ल और क्षार को आप ऐसे समझे की जिन भी फलो और सब्जियों में रस है वो सब अम्लीय चीजे है

और जिन सभी फलो और सब्जियों में रस नही है वो सब क्षारीय है। जैसे की सेब, केला, अमरुद, पालक, बेंगन, गाजर, मेथी, लौकी (दुदी)। ये सब क्षारीय है जिनमें रस नही है वो सब चीजे क्षारीय आप इस बात को याद रखिये।

लेकिन दोस्तों आलू एक ऐसी सब्जी है जिसके बारे में कहा जाता है की वो न तो अम्लीय है और न ही क्षारीय यानि की बीच का है और ऐसे ही नारियल भी एक ऐसा फल है जिसमें रस होते हुए भी वो क्षारीय है तो आप इसका सेवन भी कर सकते है
और मसाले के रूप में सबसे ज्यादा क्षारीय चीज अगर कोई है तो वो है अर्जुन की छाल

हाई बीपी की समस्या को जड़ से ख़त्म करेगी यह अर्जुन छाल

प्रयोग कैसे करना है ये जान लोजिये:-
आधा चमच्च अर्जुन छाल पाउडर और आधी ही गिलास पानी लेना है और आप चाहे तो उसमे थोडा गुड मिला सकते है अब इनको खूब गर्म करना है और फिर चाय की तरह पीना है सिप-सिप करके, गरम ही पीना है आप चाहे तो पानी की जगह दूध भी इस्तेमाल कर सकते है।
कब पीना है? सुबह के समय फ्रेश होने के बाद और आधे गंटे तक कुछ नही खाना है। दोस्तों यह काढ़ा बहुत ही अद्भुत काढ़ा है। यह काढ़ा आपकी हाई बीपी को ठीक करेगा, आपका हार्ट मजबूत करेगा,

आपकी हार्ट की सारी ब्लोकेज दूर करेगा पेशाब अगर खुल कर नही आता है तो वो भो ठीक करेगा और कोलेस्ट्रोल को ठीक करेगा, ट्राईग्लीसराइड को ठीक करेगा, मोटापा कम करेगा आपका ESR ठीक होगा बहुत ही बहुत ही अच्छी दवा है ये अर्जुन की छाल तो आप इसका इस्तेमाल करिए।

एक और मुफ्त की औषधि है हाई बीपी के लिए – बेलपत्र के पत्ते ….ये उपाय आपकी बढ़ी हुई बीपी को एकदम और जल्दी से ठीक कर देगा।

इसके लिए आप पांच बेल पत्र लेकर उसे पत्थर में पिस कर उसकी चटनी बनाइये अब इस चटनी को एक ग्लास पानी में डाल कर खूब गरम कर लीजिये , इतना गरम करिए के पानी आधा हो जाये , फिर उसको ठंडा करके पि लीजिये ।

ये सबसे जल्दी उच्च रक्तचाप को ठीक करता है और ये बेलपत्र आपके सुगर को भी सामान्य कर देगा । जिनको उच्च रक्तचाप और सुगर दोनों है उनके लिए बेल पत्र सबसे अच्छी दवा है ।

एक और मुफ्त की दवा है हाई BP के लिए – देशी गाय का मूत्र — दोस्तों रोज सुबह खाली पेट देशी गाय का मूत्र पीये आधा कप ..ये बहुत ही जल्दी आपकी हाई BP को ठीक कर देगा । ये गोमूत्र बहुत अद्भूत है दोस्तों, ये हाई BP को भी ठीक करता है और लो BP को भी ठीक कर देता है – दोनों में काम आता है

और यही गोमूत्र डायबिटीज को भी ठीक कर देता है , Arthritis , Gout (गठिया) दोनों ठीक होते है । अगर आप गोमूत्र लगातार पि रहे है तो दमा भी ठीक होता है अस्थमा भी ठीक होता है, Tuberculosis यानि टीबी भी ठीक हो जाती है । दोस्तों गोमूत्र पीते समय आपको दो सावधानिया ध्यान में रखनी है पहली की गाय सुद्धरूप से देशी हो और दूसरी की वो गर्भावस्था में न हो । इन बातो का ध्यान रखे।

⇒हाई ब्लड प्रेशर खून में कचरा और हार्ट की सारी गन्दगी को बाहर कर देगा ये प्रयोग⇐click करें 

तो दोस्तों ये बात तो हो गई हाई ब्लड प्रेशर(उच्च रक्तचाप) के बारे में अब बात करते है Low ब्लड प्रेशर (निम्न रक्तचाप) के बारे में:-

जब किसी के शरीर में खून की गति सामन्य से कम हो जाती है तो उसे लो ब्लड प्रेशर कहते है, नार्मल ब्लड प्रेशर 120/80 होता है। थोड़ा बहुत ऊपर-नीचे होने से कोई फर्क नही पड़ता। लेकिन, यदि ब्‍लड प्रेशर 90 से कम हो जाए तो उसे लो ब्लड प्रेशर कहते हैं।

अक्सर लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते। जबकि लो ब्लड प्रेशर में शरीर में ब्लड का दबाव कम होने से आवश्यक अंगों तक पूरा ब्लड नही पहुंच पाता जिससे उनके कार्यो में बाधा पहुंचती है। ऐसे में दिल, किडनी, फेफड़े और दिमाग आंशिक रूप से या पूरी तरह से काम करना भी बंद कर सकते हैं।

इसमे आप ऐसी चीजो का सेवन करे जो अम्लीय है यानि की अम्ल तत्व जिनमे ज्यादा हो। इससे पहले हमने आपको बताया था की ऐसे फल या सब्जिया जिनमे रस है वो सभी चीजे अम्लीय है तो उनका इस्तेमाल कर आप अपनी लो BP को सामान्य कर सकते हो।

ऐसे ही अगर आप ये उपाय भी करेंगे तो आपकी लो BP बहुत जल्दी ठीक हो जायेगी।

इसके लिए आपको 1 गिलास पानी में 20 से 25 ग्राम गुड़ थोड़ा सा निम्बू का रस और थोड़ा सा नमक मिलाकर इसको पिये। दोस्तों यह प्रयोग आपको दिन में तीन बार करना है। ऐसा करने से आपकी लो bp बहुत ही जल्दी सामन्य हो जाएगी

एक और अच्छी दवा है लो bp के लिए – अगर आपके पास थोड़े पैसे है तो रोज अनार का रस पियो नमक डालकर इससे बहुत जल्दी लो BP ठीक हो जाती है , गन्ने का रस पीये नमक डालकर ये भी लो BP ठीक कर देता है, संतरे का रस पिए नमक डालकर ये भी लो BP ठीक कर देता है , अनन्नास का रस पीये नमक डाल कर ये भी आपकी लो BP ठीक कर देता है ।

एक और सबसे अच्छी द्वा है लो bp के लिए – मक्खन में मिश्री मिलाकर खाओ सुबह के समय। ये लो bp को सबसे जल्दी ठीक करता है। इसमे आपको एक बात का ध्यान रखना है की मिश्री आपको डोरे वाली ही इस्तेमाल करनी है क्योकि ये ही असली मिश्री है।

आजकल मार्केट में मिश्री छोटे छोटे पीसेस में भी आ रही है जो की केमिकल युक्त है इसलिए इसका इस्तेमाल नही करना है। अगर आप मिश्री का इस्तेमाल नही करना चाहते तो आप गुड का भी इस्तेमाल कर सकते है। गुड और मक्खन मिलाकर भी खा सकते है।

लो BP के लिए और एक बढ़िया दवा है दूध में घी मिलाकर पियो। एक ग्लास देशी गाय का दूध और एक चम्मच देशी गाय का घी मिलाकर रात को पिने से लो BP बहुत अछे से ठीक होती है।

एक और अच्छी दवा है लो BP की और सबसे सस्ता भी है वो है नमक का पानी।
जिसको भी लो bp की समस्या बहुत अधिक है वे दिन में दो तिन बार नमक का पानी पिए। जो लोग बहुत गरीब है जो अनार का रस नही पी सकते, गन्ने का रस नही पी सकते ये उनके लिए बहुत ही अद्भुत है तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते है।

तो आप यहां पर बताई गई औषधियों का, सब्जियों का और फलो का इस्तेमाल करिए और अपनी हाई pb और लो bp को जड़ से ख़त्म करिए।
साथ ही आप इस Post को Facbook और Whatsapp पर शेयर करना बिल्कुल न भूले, क्योकि अभी इस समस्या से काफी लोग जूझ रहे है और इधर उधर भाग रहे है।

डॉक्टर के पास इसका कोई इलाज नही है वो बस आपको जो दवाई देंगे उसमें बस दवा लेने तक ही असर रहता है। लेकिन जैसे ही दवा ख़त्म हुई फिर से वही परेशानी खड़ी हो जाती है।

डॉक्टर आपको कभी भी रोग होने का कारण नही बताता है वो तो बस आपको दवा देने से मतलब रखते है। तो इसलिए आप इनके चक्कर में मत पड़िए, आप तो बस इन औषधियों का सेवन करिए और जड़ से रोग को समाप्त करिए।

⇒अगर इस तरह से करेंगे अपने दिन की शुरुआत(daily routine) तो कभी नही होंगे बीमार⇐click करें 

हम आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी अच्छी लगी हो। अगर अच्छी लगी हो तो आप हमे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरुर बताये।