भूख बढ़ाने(Increase appetite) और एसिडिटी (acidity)को खत्म करने का 1 अद्भुत नुस्खा !

1415
Hunger and acidity
आज आपको एक ऐसा बेजोड़ परीक्षित नुस्खा बताया जा रहा है जिसको अगर आप करते है तो आप एसिडिटी(acidity) और भूख न लगने की समस्या से हमेशा के लिए निजात पा सकते है।

दोस्तों आजकल भाग दौड़ भरी जिंदगी में भूख न लगना भी एक गंभीर समस्या बन चुकी है। भूख ना लगना मतलब कम भोजन खाना। भूख कम लगने के कारण लोग अपने खान पान पर ध्यान नही देते जिससे उनके शरीर में आवश्यक तत्वो की कमी होने लगती है और शरीर को पूरा पोषण नहीं मिल पाता है जिस वजह से शरीर में कमजोरी और दुबलापन आने लगता है। छोटे से लेकर बड़ा हर उम्र का व्यक्ति इस समस्या में घिरा हुआ देखा जा सकता है। आजकल बच्चे हर समय कुछ न कुछ उट पटांग खाते रहते है जिस कारण उन्हें भूख कम लगती है।

एसिडिटी(acidity)- एसिडिटी लगभग-लगभग सभी लोगो को परेशान करती ही रहती है। इसका एक गंभीर कारण भी है वो है खाना खाने के बाद पानी पीना। दोस्तों आप इसे हलके में मत लीजिये क्योकि इसी छोटी सी गलती की वजह से लोग बीमारियों को अपने शरीर में आने के लिए न्योता देते है। दुनिया में लगभग 80% लोग खाना खाने के बाद पानी पीते है जिसके कारण उनको पेट से जुड़े 46 रोग होते है।

⇒इसे खाने से भूख खुलकर लगेगी और एक ही रात में एसिडिटी का होगा खात्मा click करें 

दोस्तों आपको पता है कि खाना खाने के बाद जब हम पानी पीते है तो हमारे शरीर में क्या होता है?

जैसे ही हमने खाना खाया तो वो खाना हमारे शरीर के अन्दर एक स्थान है आमाशय उसमे जाकर वो इकट्ठा होता है जिसे कुछ लोग जठर भी कहते है और इसी जठर आमाशय में भोजन करने के बाद एक अग्नि जलती है जिसे जठराग्नि कहते है और ये ही हमारे भोजन को पचाती है और ये हमारे भोजन को तब तक पचाती है जब तक कि पचने की क्रिया चलती है। ये पचने की क्रिया लगभग 1 से डेड घंटे तक चलती है।

अब दोस्तों हम आपसे एक सवाल पूछना चाहेंगे कि जैसे ही आपने खाना खाया और खाना खाते ही अग्नि जल गयी अब वो अग्नि खाने को पचा रही है। इस दौरान आपने गट-गट पानी पी लिया, खूब ठंडा पानी पी लिया, फ्रीज का पानी पी लिया, बर्फ मिलाया हुआ पानी पी लिया।

तो अब क्या होने होने वाला है? अग्नि जलेगी या बुझेगी?

अग्नि पर पानी डालो तो अग्नि और पानी की दोस्ती नही है दुश्मनी है। फिर क्या होगा कि जो आपने भोजन किया वो पचेगा नही यानि पड़ा पड़ा सड़ेगा और वो सडा हुआ खाना आपके पेट में विष पैदा करेगा और वो विष आपको बीमार करेंगे। पेट में जब खाना सड़ता है तो पेट में गैस बनना, पथरी, पेट दर्द, कब्ज, बवासीर, किडनी ख़राब होना, लीवर समस्या ऐसे करके लगभग 46 रोग शरीर में आते है।

दोस्तों समझ आ रहा है ना आपको जो हम बता रहे है?

ये सब बाते राजीव दीक्षित जी ने काफी समय पहले ही बता दी थी। लेकिन फिर भी काफी लोगो को इसके बारे में पता नही है और वो बीमारियों की और बढ़ते ही जा रहे है। तो आप इस गलती को सुधारिए और केवल एसिडिटी ही नही दोस्तों पेट से जुडी समस्त बीमारियों से छुटकारा पाए केवल इस छोटे से एक नियम से।

तो अब आप खाना खाने के बाद पानी नही पियेंगे और अपने बच्चे को भी सिखाइए ताकि वो भी कभी बीमार ही न पड़े।

दोस्तों आपके मन में एक और सवाल ये आ रहा होगा कि पानी खाना खाने से पहले पी सकते है क्या? और खाना खाने के बाद पानी पीना है तो कब पीना है?

दोस्तों आप खाना खाने के 40 मिनट पहले पानी पी सकते हैं और जितना चाहे उतना पी सकते है। अगर खाना खाने के बाद पानी पीना है तो 1 से डेड घंटे बाद आप पानी पी सकते है। तो आप इस बात को  ध्यान में रखिये।

दोस्तों ये छोटा सा नियम तो आप अपने जीवन में अपना ही लीजिए। साथ में हम आपको ये औषधिया भी बता रहे है। तो आप इनको भी लीजिये जिससे आपकी एसिडिटी कब्ज और अगर आपको भूख नही लगती है जिसके कारण आप कमजोर है और भी अगर पेट से जुडी अन्य बिमारिया आपको है तो वो इस चमत्कारी दवा के सेवन से ठीक हो जायेंगी।

तो जल्दी से आप इन ओषधियो को नोट कर लीजिये

अजवाइन – 100 ग्राम

पोदीना सूखा – 100 ग्राम

सेंधा नमक – 100 ग्राम

आँवला – 100 ग्राम

हरड – 100 ग्राम

बहेड़ा – 100 ग्राम

हींग – 20 ग्राम

ये सातों औषधिया आपको पंसारी की दूकान पर आसानी से मिल जायेगी आप वहां से इन सबको घर ले आइये और लाने के बाद इनमे से जो कूटने वाली वाली ओषधिया है आप उनको कूटकर सबको साथ मिक्स कर लीजिये और किसी कांच के बर्तन में स्टोर करके रख ले।

इसको लेना कैसे है ये थोडा जान लेते है –

इस चूर्ण की 1 चम्मच सुबह के समय खाली पेट ठन्डे पानी के साथ सेवन करना है और एक चम्मच रात्रि के समय खाना खाने के 2 घंटे बाद गर्म पानी के साथ सेवन करना है।

दोस्तों ये चूर्ण पेट की समस्याओ को तो दूर करेगा ही पर जिन लोगो को एसिडिटी की ज्यादा समस्या है या जिन लोगो को भूख कम लगती है तो वो लोग इन चीजो का परहेज जरुर करे तभी पूर्ण लाभ मिल सकेगा।

तो वो चीजे है चावल, बेसन, मक्का, आलू इनका सेवन कम मात्रा में करे।

चाय, बीडी , सिगरेट व तम्बाकू का उपयोग नही करे।

तली हुई मसालेदार चीजो का उपयोग नही करे।

और दही छाछ का उपयोग अधिक से अधिक करे।

तो दोस्तों आप इस चूर्ण को जरुर बनाइये और इसका सेवन जरुर कीजिये। क्योकि हमने खुद इस चूर्ण का लाभ उठाया है और अन्य लोगो को भी बताया है।

अगर आपको हमसे कुछ पूछना है तो आप हमे कमेंट करिए। हम आपकी सहायता करने की पूरी कोशिश करेंगे।

⇒एसिडिटी की समस्या, रोकथाम, उपचार⇐click करें 

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इस लेख को जरुर शेयर कर दीजिये ताकि सब लोगो तक यह जानकारी पहुँच सके और वो अपना उपचार स्वयं कर सके। धन्यवाद !

1 COMMENT