मसूड़ों से खून (Bleeding gums) आने पर अपनाएं ये 16 नुस्खे

32

मसूड़ों में खून आने (Bleeding gums) पर करें यह आसान घरेलू उपचार करे। मसूड़ों में खून आना एक आम समस्या है। जो किसी को भी हो सकती है परन्तु यह अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या का संकेत भी हो सकता  है।
कई बार मसूड़ों में खून आने का कारण मसूड़ों का कमजोर होना,और तेजी से ब्रश करना, नकली दांतों की वजह से भी आपको मसूड़ों में खून आने की समस्या हो सकती है। अपने मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से ब्रश करना आवश्यक है। मसूड़ों में खून आने का एक कारण पायरिया भी हो सकता है जिसके कारण आपकी साँसों में बदबू भी आने लगती है मसूड़ों के खून आने के कारण मसूड़े कमजोर हो जाते है जिससे आपके दांत भी गिरने लगते है। आजकल विभिन्न प्रकार के मिलावटी खाद्य पदार्थ के सेवन करने कारण लोगो में दांतों को बीमारियाँ होना आम हो गया है। इन चीजों का सेवन करने मुंह में अनेक प्रकार के कीटाणु सक्रिय हो जाते है और इनके कारण मसूड़ों और जबड़े की हड्डी में संक्रमण हो जाता है जिससे मसूड़े कमजोर होकर उनसे खून आने लगता है। कई बार हम मसूड़ों से खून आने की समस्या को सामान्य मानकर अनदेखा कर देते हैं लेकिन अगर यह बढ़ जाए तो आगे चलकर गंभीर बीमारी का रूप भी ले सकती है ऐसे में अगर आपको कभी भी ब्रश करने के दौरान थूक में खून दिखाई दे तो सावधान हो जाइए और इसका जल्दी से उपचार करवाना आवश्यक है।

मसूड़ों में खून आने का कारण-

विटामिन C की कमी, लीवर से संबंधित रोग, कैंसर, विटामिन K की कमी, महिलाओं में हार्मोनल बदलाव, दांतों में टेढापन, मुंह की साफ-सफाई का ध्‍यान न रखना, मसूड़ों में चोट और ब्‍लीडिंग संबंधी विकार के कारण, गर्भावस्था में मसूडों में सुजन होना,डायबिटीज,उच्च रक्त चाप, आदि होने के कारण भी मसूड़ों से खून आ सकता है।

लक्षण –

मुंह और मसूड़ों के आसपास दर्द होना,मसूड़ों का लाल या बैंगनी पड़ जाना,मसूड़ों को छूने से ही दर्द होना,मसूड़ों और दांतों के बीच में दुरी हो जाना,मुंह से बदबू आना,मुंह का स्वाद बिगड़ना,दांतों का हिलना,मसूड़े फूलना आदि लक्षण हो सकते है।

⇒दांतों में जमे गंदे Plaque / Tartar को 2 मिनट में हटाकर मोतियों जैसा चमकदार बनाये।⇐ click करें 

बचाव के उपाय-

 
  1. हमेशा नर्म बालों वाले ब्रश का उपयोग करें।
  2. सुबह-शाम खाना खाने के बाद ब्रश जरुर करें।
  3. कम से कम दो मिनट तक ब्रश अवश्य करें, इससे अधिक देर तक नहीं करें दांत के दंतवल्क को नुकसान होता है।

अपनी डायबिटीज और उच्च रक्तचाप को कंट्रोल रखें।

  1. अपने मुंह की साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें।
  2. अच्छे व संतुलित भोजन का सेवन करें,जिसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी और कैल्शियम शामिल हो।
  3. खूब पानी पियें। तम्बाकू,का सेवन नही करे।
  4. अत्यंत गर्म या ठंडे खाद्य और पेय पदार्थों का सेवन नहीं करें।

    घरेलू उपचार-

  5. 1 कप पानी में एक चम्मच त्रिफला पाउडर लेकर इसको गर्म करके त्रिफला की चाय पीने से मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाएगा।
  6. एक कप संतरे का जूस लेकर आधा चम्मच खांड और एक चुटकी जीरा लेकर इनको मिलाकर सेवन करने से खून निकलना बंद हो जायेगा।
  7. नारियल का तेल लेकर इसको अपने मसूड़ों पर मसाज करने से आपके दांत और मसूड़े मजबूत होंगे। और खून निकलना बंद हो जाएगा।
  8. सरसों का तेल में थोडा सा नमक मिलाकर रात को सोने से पहले मसाज करने से कुछ ही दिनों में इस समस्या से निजात मिल जाएगी।
  9. लौंग का तेल लेकर रुई से दांतों मसूड़ों पर लगायें,और कुछ देर बाद हल्के गुनगुने पानी से धो लें। यह कडवा तो लगेगा पर कुछ ही दिनों में आराम कर देगा। मसूड़ों से खून निकलना बंद जाएगा।
  10. गुनगुने पानी में थोडा सा नमक मिलाकर कुल्ला करें, इससे मसूड़ों में आई सूजन, खून या फिर किसी भी तरह के बैक्टीरिया से छुटकारा मिलता है।
  11. फिटकरी के टुकड़े को पानी में डालकर इस पानी से कुल्ला करने से मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाता है और मुंह की दुर्गन्ध से भी छुटकारा मिलता है।
  12. दांतों की समस्त समस्याओं से राहत पाने के लिए एलोवेरा के गूदे को दांतों और मसूड़ों पर लगाएं। एलोवेरा से सिर्फ मुंह के मसूड़ों से खून ही नहीं बल्कि दांतों की समस्या से भी निजात मिलेगी। इसके अलावा मुंह की दुर्गंध से ही राहत मिलेगी। धन्यवाद

यह भी पढ़े ⇒(Cholera Disease) हैजा रोग को ठीक करने के 9 रामबाण उपाय