कोलेस्ट्रोल (Cholesterol problem) क्या है, इसे कैसे कम करे पूर्ण जानकारी

940
Cholesterol problem

दोस्तों आज हम आपकों कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol problem ) के विषये में अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले है। मनुष्य में फलने वाली यहे सबसे तेज बीमारी मानी जाती है जिससे भारत के लगभग 70 से 80 प्रतिशत लोग (Cholesterol) ग्रसित है।

आजकल के दोर में हर एक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से ग्रस्त होता जा रहा है और हजारो लाखो रूपए इन बीमारियों को ठीक करने में खर्च कर रहा है। मगर व्यक्ति एक बार भी अपने देनिक दिनचर्या में झांककर नही देखता कि आखिर वो ऐसा क्या खा रहा है जिससे उसको ये सब दुख और तकलीफे झेलनी पड़ रही है। आजकल हमारे जीने का तरीका इतना बदल गया है कि हम अपने खाने पिने पर अच्छे से ध्यान ही नही दे पाते है। इस कारणवश हमारे शरीर को बहुत कुछ सहना पड़ता है
जिससे हमारे शरीर में बहुत सी समस्याएँ उत्पन्न होने लगती है। कोलेस्ट्रॉल एक मोम के जैसा चिकना पदार्थ होता है जो लीवर द्वारा उत्पन्न होता है। हमारे शरीर में 70% कोलेस्ट्रॉल लीवर ही उत्पन्न करता है। बाकि का 30% हमारे द्वारा खाए गये भोजन से प्राप्त होता है। कोलेस्ट्रॉल का मुख्य काम होता है कोशिकाओ (सेल्स) को बनाना और सूरज से विटामिन डी लेना। यह शरीर के लिए उतना ही जरूरी होता है जितना की खून।
अब इसे थोडा ध्यान से समझिये –

हमारे शरीर में तीन प्रकार के कोलेस्ट्रॉल होते है लेकिन ज्यादातर लोगो को सिर्फ दो प्रकार के कोलेस्ट्रॉल के बारे में ही पता है।पहला LDL कोलेस्ट्रॉल यानि के लो डेंसिटी लेपोप्रोटीन जिसे बेड कोलेस्ट्रॉल भी कहते है। जो कि हमारी आर्टरीज में क्लॉट जमा कर देता है , जिसकी वजह से हार्ट अटेक और हार्ट स्टोक का खतरा बड़ा जाता है।

हमारे शरीर में LDL कोलेस्ट्रॉल की मात्रा जादा होने पर यह रक्त नली(आर्टरीज) की दीवार पर क्लॉट जमा करने लगता है जिसकी वजहे से रक्त का बहाव शरीर में सही तरीके से नही हो पाता है और हृदय को बराबर मात्रा में रक्त ना मिलने पर हार्ट-अटैक जैसी गंभीर बिमारी भी हो सकती है । जिस कारण इस कोलेस्ट्रॉल को सबसे ज़्यादा नुक़सानदायक माना जाता है।

⇒कोलेस्ट्रोल का सफाया कीजिये और हार्ट अटैक, ब्रेन अटैक और लकवा जैसी गंभीर बीमारियों से बचिए⇐click  करें

 LDL कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर में कब बढ़ता है? यानि हम ऐसा क्या खाते है जिससे की LDL की मात्रा हमारे शरीर में बढ़ जाती है

2 चीजो से सबसे ज्यादा कोलेस्ट्रोल हमारे शरीर में बढ़ता है। एक  रिफाइंड ऑयल और दूसरा मांस। किसी भी जानवर का मांस शरीर में कोलेस्ट्रोल को बढाता है। चाहे वो मांस बकरी का हो, बकरे का हो, मुर्गे का हो, भेंस का हो, गाय का हो।

मांस शरीर में बहुत तेजी से कोलेस्ट्रोल बढाता है। इसके आलावा भी बहुत सी चीजे ऐसी है जिनकी वजह से LDL बेड कोलेस्ट्रोल बढ़ता है। जैसे मेदा, बटर, केक, मीठा, डालडा, सिगरेट और घी। गाय के घी के आलावा कोई भी घी शरीर में कोलेस्ट्रोल बढाता है और शराब पिने से भी कोलेस्ट्रॉल तेजी से बढ़ता है। तो आप इन बातो को याद रखिये।

ये तो हो गया LDL कोलेस्ट्रोल –

दूसरा होता है HDL कोलेस्ट्रॉल हाई डेंसिटी लेपोप्रोटीन, जिसे गुड कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है। ये हमारी आर्टरीज में से LDL  कोलेस्ट्रॉल यानि ख़राब कोलेस्ट्रोल को दूर करता है। गुड  कोलेस्ट्रॉल आर्टरीज में जाकर बेड कोलेस्ट्रॉल को लीवर में भेज देता है और लीवर से होते हुए बेड  कोलेस्ट्रॉल बाहर निकल जाता है।

दोस्तों इस कोलेस्ट्रॉल को ऐसे समझिये जैसे एक बुरा व्यक्ति है जो चारो तरह कचरा फेलाता है और रास्ते को गन्दा कर देता है और एक तरफ अच्छा व्यक्ति है जो रास्तो के सभी कचरों को उठाकर रास्ते को साफ़ करता है। इसमें जो बुरा व्यक्ति है वो LDL  है और जो अच्छा व्यक्ति है वो HDL है। जब LDL यानि (बेड कोलेस्ट्रॉल) आर्टरीज में जमकर खून के प्रवाह को रोक देता है तब HDL का काम आर्टरीज में जमे उस गंदे कोलेस्ट्रॉल को साफ़ करके खून के प्रवाह को सही करता है।

और तीसरा कोलेस्ट्रोल है VLDL  (वैरी लो डेंसिटी लेपोप्रोटीन)। दोस्तों यह कोलेस्ट्रॉल मुख्य तौर पर दिल की बिमारियों का कारण है। इस वजह से VLDL को LDL  से भी अधिक नुक़सानदायक माना गया है।कोलेस्ट्रोल आप समझते है? ये वही बीमारी है जिससे जिससे हृदयघात आता है। ये ही वो बिमारी है जिससे डाइबिटीज होती है।

दोस्तों शरीर में जब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो हमें गंभीर बिमारियों का सामना करना पड़ सकता है। सिने में दर्द होना शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का एक मुख्य लक्षण है। जब आपके शरीर में खून की धमनियां कोलेस्ट्रॉल के जमने से सख्त हो जाती है तो ऐसी स्थिति में आपकी धमनियां इतनी सिकुड़ जाती हैं कि खून दिल से अच्छी तरह से गुजर नहीं पाता है और जब आप एक्सरसाइज या कोई मेहनत का काम करते है तो आपके सिने में दर्द होता है।

ऐसे ही Kidneys यानि गुर्दे में सुजन) भी बताता है की आपके शरीर में कोलेस्ट्रोल बढ़ गया है।

शरीर में जब कोलेस्ट्रॉल बनता है तो खून सही ढंग से किडनी में नही पहुच पाता है। तो ऐसी स्थिति में आपकी किडनी में सुजन आ जाती है। पैरो में तरल पदार्थ का निर्माण होना, उच्च रक्तचाप होना, किडनी का ख़राब होना और पेशाब का न आना, जेसी गंभीर बीमारी कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से होती है।

ऐसे ही Stomach (पेट में दर्द) होना Cholesterol problem

दोस्तों जब पेट में खून का प्रवाह कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कारन धीमा हो जाता है तो आपके नाभि के ऊपर वाले हिस्से में  दर्द होना शुरू हो जाता है। खासतोर में दर्द खाना खाने के आधे घंटे बाद होता है। यदि आपकी नसे पूरी तरह ब्लाक हो चुकी है और पेट तक खून नही पहुच पा रहा है तो आपको घंटों तक पेट दर्द रहेगा और ऐसी स्थिति में आपको सर्जरी भी करवानी पड़ सकती है जिसमे आपके लाखो रूपए तक खर्च हो सकते है। इसलिए आप इस बात का जरुर ध्यान रखे।

शरीर में कोलेस्ट्रोल बढ़ने का अगला लक्षण है Gallstones (पित्त की पथरी)Cholesterol problem

पित्त की पथरी का होना भी कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का एक लक्षण है। जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा बढ जाती है तो वे पित्ताशय की थैली में जाकर जमने लगता हैं और धीरे धीरे पथरी का रूप ले लेता है। जिसके कारण आपके पेट के दाहिने तरफ पसलियों के नीचे दर्द होना शुरू हो जाता है। यदि इसका सही समय पर इलाज नही किया गया तो यह पित्ताशय को पूरी तरह ब्लाक कर देगा जिसके कारण आपके pancreas (अग्नाशय) में सुजन आ जाती है।

 Liver (लीवर की समस्या)

हमारे शरीर में जो अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल बनता है लीवर उसे हटाकर पित्त लवण (bile salt) में परिवर्तित कर देता है। खून में कोलेस्ट्रॉल की ज्यादा मात्रा होना हमारे लीवर को भी ख़राब कर सकता है। लीवर में fat की मात्रा बढ़ने लगती है जिसके कारन यकृत रोग (fatty liver disease) होने का खतरा बढ़ जाता है।

तो आप जान ही गए होंगे की कोलेस्ट्रॉल क्या है, ये शरीर में कैसे बढ़ता है और इसके बढ़ने पर हमारे शरीर में कोन कोनसी बीमारी हो सकती हैअब हम बात करेंगे शरीर में बढे हुए कोलेस्ट्रोल को कम करने के बारे में, और साथ ही जानेगे कि ऐसी कोन कोनसी चीजो का सेवन किया जाए जिससे की गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढे और बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम हो सके।

बढे हुए कोलेस्ट्रोल को कम करने की सबसे ज्यादा ताकत एक चीज में है और वो है मेथी का दाना। इस मेथी के दाने में अनेक प्रभावशाली फायटो-नुट्रिएंट्स होते है। इसके साथ-ही लौह, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, मैंगनीज एवं ताम्बे जैसे खनिज भी उच्च मात्रा में पाए जाते हैं। मेथी के बीज में प्रभावी रोगाणुरोधी, एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, मधुमेह विरोधी और एंटीवायरल गुण पाएं जाते हैं। दोस्तों ये उपाय बहुत ही सरल उपाय है और जिन भी लोगो ने ये प्रयोग किया है उनको लाभ जरुर हुआ है।

इस उपाय को करने के लिए एक चम्मच मेथी के दाने को एक गिलास पानी में डालकर रात में रख दे और सुबह होने पर उस पानी को पी जाए फिर उपर से मेथी के दाने चबा चबाकर खा जाए।दोस्तो इस प्रयोग को आपको लगातार करना है और तब तक करना है जब तक की आपका कोलेस्ट्रोल कम न हो जाए। आप इसे 3 महीने तक लगातार कर सकते है इसका कोई नुक्सान नही है और ये इतना प्रभावकारी प्रयोग है की इससे आपको फायदा होगा ही होगा।

ये मेथी दाना आपका कोलेस्ट्रोल तो कम करेगा ही साथ ही आपके शरीर का ट्राईग्लिसराइड कम करेगा। शुगर अगर बढ़ा हुआ है तो उसको कम करेगा,अगर शरीर में ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है तो उसको नार्मल करेगा,

ऐसे करके पुरे 48 रोगों में मेथी दाना के बहुत अच्छे परिणाम है और सबसे बड़ी बात तो ये की इस मेथी दाने का प्रयोग स्वयं श्री राजीव दीक्षित जी ने किया है और हजारो लोगो पर इसका परिक्षण किया है। तो आप इसे कर सकते है। बेड कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए आप ये उपाय भी कर सकते है। ये उपाय भी बहुत कारगर है और लाखो लोगो ने इस उपाय को किया है।

आप बस सुबह खाली पेट लौकी का एक गिलास जूस पिए। इस जूस को बनाते समय इसमे 5 पुदीना के पत्ते 5 तुलसी के पत्ते और थोडा सा काला नमक या सेंधा नमक भी मिला लीजिये। अब ये एक जबरदस्त ड्रिंक तेयार हो जाएगी। इसका सेवन आपको सुबह फ्रेश होने के बाद करना है।

ये सिर्फ कोलेस्ट्रॉल को ही सही नहीं करेगा बल्कि इस से आपके हृदय की धमनियों में जमा हुआ क्लॉट भी साफ़ होगा और हृदय को भी बल मिलेगा। इसके सेवन से ब्लड की एसिडिटी ख़त्म हो जाएगी जिससे शरीर में गाढ़ा हो रखा खून पतला हो जायेगा और आपको हाई कोलेस्ट्रोल, हाई ब्लड प्रेशर,शुगर की समस्या, पेरालिसिस,ब्रेन स्ट्रोक और हार्ट अटेक जैसी गंभीर बीमारियों से केवल इस जूस के सेवन से हमेशा हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायेगा। इसलिए जिनको बेड कोलेस्ट्रोल के आलावा ये समस्याए है वो भी इसका सेवन कर सकते है।

इसके आलावा भी ऐसे बहुत सारे छोटे छोटे नुस्खे है जिनकी मदद से हम शरीर में बढे हुए बेड कोलेस्ट्रोल को कम करके गुड कोलेस्ट्रोल को बढ़ा सकते हैतो आइये जानते है उन नुस्खो के बारे में –

लहसुन:-

सुबह उठते ही 3-4 कच्ची लहसुन की कलियाँ चबा चबा कर खा लीजिये। लहसुन कोलेस्ट्रॉल के रोगियों के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है इसको नियमित घर की सब्जी में डालकर कर या इसकी चटनी बना कर भी खायी जा सकती हैं। इसके रोजाना सेवन से शरीर में बेड कोलेस्ट्रोल नही बनता है।

प्याज़:-

दोस्तों हाई कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में लाल प्याज काफी फायदेमंद होती है। लाल प्याज बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल के लेवल बढ़ाता है। इससे हार्ट डिजीज होने की सम्भावना काफी कम हो जाती है।

इस उपाय को करने के लिए एक प्याज को बारीक काटकर एक कप छाछ में डाल दें। ऊपर से एक चौथाई चम्मच काली मिर्च डाल दें और अच्छी तरह से घोल लें। इस मिश्रण का नियमित दिन के समय सेवन करें।हर रोज़ अगर आप आधा प्याज अपनी खुराक में शामिल करते हैं तो ये आपके बढे हुए बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाने में बहुत मददगार हैं। दोस्तों इसके आलावा धनिया के बीज भी बेड कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स (triglycerides) के लेवल को कम करने में मदद करते हैं।

बेड कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने के लिए आप ये उपाय भी कर सकते है। इसे बनाने के लिए दो चम्मच धनिया के बीजों का पाउडर बना कर उसे एक कप पानी में मिलाये। अब इस मिश्रण को उबाल कर छान लें। इस पानी का दिन में दो बार सेवन करें। आप इसमें दूध, चीनी और इलाइची मिलाकर अपनी रोजाना की चाय की जगह भी सेवन कर सकते हैं। इसका नियमित सेवन करने से LDL यानि बेड कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम किया जा सकता है।

इन नुस्खो का इस्तेमाल करके आप अपने बढे हुए कोलेस्ट्रोल को तो कम सकते है पर ये समस्या दोबारा ना हो उसके लिए आपको अपना खानपान सही करना होगा। आयुर्वेद के अनुसार अपने दिन की शुरुआत कैसी होनी चाहिए सुबह, दोपहर और शाम का भोजन कैसा होना चाहिए इस विषय पर हमने पहले ही विडियो बना रखी है। उसे देखने के लिए आप इस पोस्ट के अंत में दिए गए विडियो को देखें।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इस लेख को जरुर शेयर कर दीजिये ताकि सब लोगो तक यह जानकारी पहुँच सके और वो अपना उपचार स्वयं कर सके। धन्यवाद !

⇒ इतनी नफरत हो जाएगी की जीवन में कभी नही खायेंगे – You will not eat this if you know about it.⇐ click करे