1 गिलास नारियल दूध (coconut milk) से करे रोगों से बचाव

57
Benefits of coconut milk

श्रीफल, कदली फल, कल्प फल अनेक सम्मानीय नामों से संबोधित “नारियल दूध  (coconut milk) प्रकृति का सम्पूर्ण प्रोटीन के गुणों से युक्त,मातृदूध के साथ तुलना करने वाला एक अत्यंत पौष्टिक खाद्य है। पूजा अनुष्ठान, शादी-ब्याह जैसे सभी मांगलिक कार्यो का प्रतीक आहारों में अग्रगण्यनेता है। यह सम्पूर्ण गुणों से युक्त भी है।
इसकी महिमा की हमें बहुत कम जानकारी है। मानव केवल नारियल coconut milk खाकर पूरी उम्र स्वस्थ जी सकता है नारियल, केला-सम्पूर्ण आहार है इन दोनों आहारों की उपस्थिति में मानव को अन्य किसी आहार की बिलकुल आवश्यकता नहीं है।
नारियल दूध coconut milk से करे रोगों से बचाव करें। वह नारियल में भरपूर है,अन्य मेवो में भी ये तत्व भरपूर हैं। इसके गुणों का यहाँ अधिक बखान करने की आवश्यकता नहीं है। इसका स्वाद, लाभ और आकर्षण काफी है हमें सब कुछ समझानें के लिए।
सत्य तो स्वयं सिद्ध होता है -झूठ के बखान करने पड़ते हैं। नारियल की मुलायम मलाई टी. बी. (क्षयरोग) जैसे रोगियों को नवजीवन दे देती है। नारियल की 57.4 प्रतिशत चर्बी घुलनशील अवस्था में होने के अत्यंत सुपाच्यकर है, पर्याप्त है, इसलिये अन्य किसी भी चर्बी- युक्त खाद्य की हमें आवश्यकता ही नहीं पड़ती। चमड़ी और बालों की स्वस्थता के साथ इसका घनिष्ठ संबंध है।
नारियल में प्रोटीन, चर्बी और स्टार्च होने के बावजूद भी यह अम्लकारक न होकर क्षारकारक आहार है। माता का दूध बढ़ाने के लिए मेवे सर्वोतम हैं । माता के दूध और नारियल के दूध में एक जैसा स्वाद है । अन्य मेवों का स्वाद भी इसी तरह है। नारियल विटामिन “ई” की अधिकता के कारण उत्कृष्ट वीर्य का निर्माण करता है। नारियल के पानी की महिमा को सारा विश्व जानता है। नारियल का दूध अत्यंत स्वादिष्ट, रुचिकर पेय होता हैं, 6 औंस के करीब दिन में 3 बार पिने से दुर्बल और दुबले व्यक्ति अपना वजन और स्वास्थ्य बड़ा सकते हैं।
नारियल का दूध या गिरी खा लेने के बाद करीब 6 घंटे तक भूख नहीं लगती। माता का दूध समाप्त होने और 2 साल की उम्र के बाद बच्चों के लिए यह सर्वश्रेष्ठ दूध एवं आहार है। पशु दूध सिर्फ रोगजन्य है। भारत देश में आसानी से उपलब्ध होने वाला ये किफायती मेवा है। गरीब से गरीब व्यक्ति के लिए भी ये महंगा नहीं पड़ता अगर केले, अंकुरित जैसे आहार के साथ इसको भी थोड़ी मात्रा में उपयोग किया जाए। गरीबी मानव की थोपी हुई है, कुदरत की नहीं! हमारी सरकार और समाज के साथ हम स्वयं भी जिम्मेदार हैं। कुदरत का कानून पिघलकर या उतरकर गरीबो तक नहीं आने वाला। गरीबों को ऊपर उठकर कानून तक पहुंचना पड़ेगा। शुद्ध हवा और शुद्ध आहार का गरीबी अमीरी से क्या लेन/देन!

⇒एक साल तक आपका लीवर स्वस्थ रहेगा इस उपाय से⇐click करें 

नारियल का दूध- coconut milk

गाय-भैंस का दूध छिनकर जीवन भर स्तनपान करे रहे बच्चे रूपी ये जवान-बूढ़े जो ह्रदय रोग,गठिया और कैंसर के शिकार होकर इसी दूध के कारण कष्ट भोगते हैं। गाय का बछड़ा तो समयानुसार दूध पीना छोड़ देगा परन्तु मानव का बच्चा अगर दूध पिने का नशा पाल ही चुका है तो नारियल का दूध निशचय ही उसके शौक को जारी रखते हुए उसे बहुत आनन्दित करेगा ।
पशु दूध से होने वाले रोगों से तो मुक्त होगा ही – गाय-भैंस भी राहत की सांस लेकर उपकार एक नारियल में करीब 500 मी.लिटर पानी सिलबट्टे या मिक्सी (जूस मशीन) के द्वारा मिलाकर स्वाद से पिने योग्य 4 गिलास दूध बनाया जा सकता है परन्तु क्यों ये जटिलता ? सीधे-सादे मस्ती से खाइए, पूरा लाभ उठाइये । जिस तरह शुद्ध हवा, सुंदर फूल, प्राकृतिक सौन्दर्य का अनुभव और स्वाद ही उसकी महिमा- गान भी इसका अनुभव और स्वाद हैं ।

यह भी पढ़े ⇒यह गलत आहार (wrong diet)है, जिसके कारण जागने पर भारी महसूस होता है