अगर पेशाब में हो जलन (Dysuria) तो अपनाएं ये 8 बेहतरीन घरेलू नुस्खे !

37

मूत्राशय प्रदाह (मूत्र में जलन होना) बीमारी को कैसे करे ठीक ?

इस रोग में मूत्राशय में दर्द (dysuria) होता है, बार-बार पेशाब जाने की इच्छा होती है, पेशाब करते समय मूत्राशय में जलन (dysuria) व दर्द रहता है। कष्ट के साथ पेशाब आती है। इसका मुख्य कारण शरीर में पानी की कमी के कारण होता है।

मूत्र मार्ग में संक्रमण (urinary tract infection) होने से भी ऐसा हो सकता है मूत्राशय में जलन (dysuria) बहुत ही आम समस्या है। जो मूत्र मार्ग में संक्रमण,किडनी में स्टोन और हिहाइडरेशन आदि  के कारण होती है।

इस बीमारी के घरेलू उपचार :-

1. प्रतिदिन गाजर का रस पिने से जलन में आराम मिलता है।चौलाई के पत्तों का सुप हींग जीरा मिलाकर पीने से दर्द में कमी आती है।

2. चावल के मांड में मिश्री मिलाकर पिने से बीमारी में लाभ होता है। 5-6 ताजे आंवले का रस निकालकर उसमे शहद मिलाकर पियें।

3. त्रिफला चूर्ण का काढ़ा में गुड़ मिलाकर पिने से आराम मिलता है। लौकी तथा तोरई उबालकर जौ की रोटी के साथ खाने पर आराम मिलता है।

4. दो प्याज की गाँठ को बारीक़ काटकर 1 ग्लास पानी में उबालें।पानी आधा रहने पर छानकर पियें। अनार के छिलके का पाउडर बनाये । ताजे पानी से 1 चम्मच दो-तीन बार प्रतिदिन सेवन करे।

5. आधा किलो मुली के पत्तों का रस निकालकर उसमे 3 चम्मच कलमी शोरा मिला कर पीने से पेशाब की जलन (dysuria) में आराम मिलेगा।

6.पोस्ता दाना +सुखा आंवला +हल्दी तीनों की 10-10 ग्राम मात्रा में लेकर पावडर बनाये फिर इसे आधा किलो पानी में भिगों दें । सुबह वह पानी छानकर पियें रोग ठीक होगा।

7.धनिया +सुखा आंवला + सफेद चन्दन +मिश्री 10-10 ग्राम मात्रा में लेकर पानी में भिगों दें प्रात:काल खाली पेट वह पानी छानकर पीलें। रोग में आराम मिलेगा।

8.ककड़ी को बारीक़ काटकर और उसमे मिश्री मिलाकर सलाद के रूप में खाने से पेशाब में जलन का रोग खत्म हो जाता है। 4 चम्मच मुली का रस जरा सा सेंधा नमक डालकर पियें।

⇒हल्दी से होंगे चौकाने वाले फायदे लेकिन नुकसान भी – Health Benefits of Turmeric⇐click करे

ये भी पढ़ें  बार-बार पेशाब आने से है परेशान तो अपनाये ये 10 असरदार घरेलू नुस्खे