हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) और हार्ट की सारी गंदगी को निकाल देगा ये प्रयोग – How This 1 Method Can Cure High B.P.

1097

आज हम ऐसे विषय पर बात करने वाले है जिसमे हम ह्रदय सम्बन्धी समस्याओ, हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) उनके कारण और निवारण के बारे में आपको बताएँगे।

दोस्तों इससे पहले हमने एक लेख लिखा था –

“हाई बीपी (High Blood Pressure) और लो बीपी (Low Blood Pressure) की समस्या को जड़ से समाप्त करें इन आसान नुस्खों से”।

तो अगर जिन दोस्तों ने यह लेख नही पढ़ा है तो वो इसे एक बार जरुर पढ़ लें जिससे उनको काफी मदद मिलेगी हार्ट अटेक के बारे में।

⇒  हाई बीपी और लो बीपी की समस्या को जड़ से समाप्त करें इन आसान उपायों से!

दोस्तों, उस लेख मे हमने हृदयाघात यानि हार्ट अटैक और हार्ट ब्लॉकेज के बारे में बताया था कि कैसे हार्ट अटेक से बचना है और कैसे हार्ट अटैक का उपचार करना है। तो उसमे जो नुस्खा हमने बताया था अर्जुन की छाल वाला, वो नुस्खा हमारे बहुत से दोस्तों को समझ नही आया है।

उनमे से बहुत से दोस्तों ने कमेंट किया था कि अर्जुन की छाल को कितनी देर तक गर्म करना है, अर्जुन की छाल कहा पर मिलती है, क्या इसको गर्म ही पीना है और क्या इसको सीधे ले सकते हैं

पानी में घोलकर या नहीं? बहुत से दोस्तों ने तो यह कहा है कि उनके दिल में कभी कभी हल्का हल्का दर्द और चुभन होती है तो क्या हमे हार्ट अटेक हो सकता है? इत्यादि बाते कही है।

तो आज हम इसी विषय पर बात करने वाले हैं जिसमे हम आपको विस्तार से समझा देंगे कि कैसे अर्जुन की छाल को प्रयोग में लाना है और इसको लेने के क्या क्या लाभ हैं?

दोस्तों अर्जुन की छाल के प्रयोगो को जानने के बाद आप आसानी से हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) और हार्ट की सारी समस्याओ से छुटकारा पा सकते है और साथ ही अन्य बीमारियों में भी आप इसका प्रयोग कर सकते है।

दोस्तों अर्जुन की छाल हार्ट के रोगियों के लिए एक महाऔषधी है। इस औषधी को तो सदियों पहले आयुर्वेद ने हृदय रोग की महान औषधि घोषित कर दिया था। आयुर्वेद के प्राचीन विद्वानों में वाग्भट, चक्रदत्त और भावमिश्र ने इसे हृदय रोग की महौषधि स्वीकार किया है।

दोस्तों अगर जो भी व्यक्ति अर्जुन की छाल का प्रयोग करता है उसे जिन्दगी में कभी भी हार्ट की समस्या, हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure), खून में खराबी, एसिडिटी, शुगर जैसे वायु के समस्त रोग कभी नही होते है। बस व्यक्ति को चाहिए कि कैसे औषधी का प्रयोग करना है और किन किन बातो का ध्यान रखना है।

तो अब जानते है कि कैसे अर्जुन की छाल को लेना है, कितनी देर तक गर्म करना है और यह कहाँ पर मिलती है आदि बातें।

तो सबसे पहले जानते है कि अर्जुन की छाल कहा मिलती है – दोस्तों अर्जुन की छाल आपको बाजार में पंसारी की दूकान पर आसानी से मिल जायेगी आप वह से खरीद कर ले आइये और घर पर लाकर खूब बारीक कूट कर इसका पाउडर बना लीजिये और स्टोर करके रख लीजिये।

दोस्तों एक बात का ध्यान रहे कि अर्जुन की छाल आप जहा से भी ख़रीदे वो जगह ओथेन्टिक होनी चाहिए यानि अर्जुन की छाल आप जहा से भी ले शुद्ध होनी चाहिए। मिलावटी अर्जुन की छाल काम नही करेगी।

तो आप इस बात का ध्यान रखे और अगर आप घर पर ही अच्छी और शुद्ध अर्जुन छाल पाउडर मंगवाना चाहते है तो हमने लेख के अंत में एक लिंक दिया है आप वहां पर क्लिक करके आर्डर कर सकते है। जिससे आपको बाजार में ढूंढने की जरुरत भी नही होगी और कूटने की भी। तो आप ऑर्डर कर सकते है।

दोस्तों आपने यह तो जान लिया कि अर्जुन की छाल कहाँ से लेनी है, अब जानते है कि इसका प्रयोग कैसे करना है?

आधा चमच्च अर्जुन छाल पाउडर और आधी ही गिलास पानी लेना है और आप चाहे तो उसमे थोडा गुड मिला सकते है। अब इनको खूब गर्म करना है और फिर चाय की तरह पीना है सीप सीप कर, गरम ही पीना है। आप चाहे तो पानी की जगह दूध भी इस्तेमाल कर सकते है।

कब पीना है? सुबह के समय फ्रेश होने के बाद और आधे गंटे तक कुछ नही खाना है।

दोस्तों यह काढ़ा बहुत ही अद्भुत काढ़ा है। यह काढ़ा आपकी हाई बीपी (High Blood Pressure) को ठीक करेगा, आपका हार्ट मजबूत करेगा, आपकी हार्ट की सारी ब्लोकेज दूर करेगा पेशाब अगर खुल कर नही आता है तो वो भो ठीक करेगा और कोलेस्ट्रोल को ठीक करेगा,

ट्राईग्लीसराइड को ठीक करेगा, मोटापा कम करेगा आपका ESR ठीक होगा बहुत ही बहुत ही अच्छी दवा है ये अर्जुन की छाल तो आप इसका इस्तेमाल करिए।

जिनको पक्षाघात की समस्या है वो भी इस काढ़े का प्रयोग कर सकते है, उनके लिए भी यह बहुत अच्छा काढ़ा है। इसके सेवन से पक्षाघात से सुधार होने लगता है। जिनको अल्सर की समस्या है वो भी इस काढ़े का इस्तेमाल कर सकते है।

जिनके शरीर में पथरी है तो आप इस काढ़े का प्रयोग करिए, जिनको एसिडिटी की समस्या है जिनके पेट में गैस बहुत बनती है, डकारे बहुत आती है तो आप इस काढ़े का प्रयोग करिये सब ठीक करेगा।

जिन दोस्तों को लगता है कि उनके हार्ट में कभी कभी हल्का दर्द रहता है या हार्ट में चुभन सी होती है तो उनको इस अर्जुन की छाल के काढ़े का प्रयोग करना है, जिससे की हार्ट में जमी गंदगी मल द्वारा बाहर निकल सके और दिल की सारी नालिया साफ़ हो सके।

दोस्तों जैसे ही आप इस काढ़े का प्रयोग करेंगे आपको 5 से 7 दिनों में ही मालूम हो जाएगा और आप स्वस्थ स्वस्थ महसूस करने लगेंगे और एक सवाल की अर्जुन छाल के काढ़े का कितने दिनों तक सेवन करना है।

25 से 30 दिनों तक आप इसका सेवन करिए। इन दिनों के अंतराल में यह आपकी सारी हार्ट की और शरीर की सारी गंदगी बाहर निकाल देगा। पर लगातार इसका सेवन करिए बीच में कही छोड़े नही और अगर आप इस काढ़े को 1 महीने के बाद भी सेवन करना चाहते है तो थोडा गैप दे दीजिये 10-15 दिन का और आप फिर से इस काढ़े का सेवन कर सकते है। तो आप इसका इस्तेमाल करिये।

दोस्तों हमने पूरी कोशिश की है आपको अच्छे से समझाने की। अगर फिर भी हमसे कोई पॉइंट छुट गया है जो आप पूछना चाहते है तो आप कमेंट कीजिये हम आपको जरुर रिप्लाई देंगे।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इस लेख को जरुर शेयर कर दीजिये ताकि सब लोगो तक यह जानकारी पहुँच सके और वो अपना उपचार स्वयं कर सके। धन्यवाद !

click करें⇒हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट की सारी गन्दगी को निकाल देगा ये प्रयोग⇐

 

1 COMMENT

  1. मुझे अर्जुन की छाल की जरूरत है क्या आप असली अर्जुन की छाल दे सकते है