असमय झड़ते बालों(Premature hair loss) को रोकना है करें ये उपाय

63
असमय बाल (Premature hair loss)क्यों झड़ते है-
यह तो हम सभी जानते ही हैं आपकी पर्सनेलिटी निखारने में बालों की अहम भूमिका होती है, ऐसे में जरूरी हो जाता है कि बालों की देखभाल अच्छे से की जाएं। आप कुछ ऐसे घरेलू उपायों को अपनाएं जिसके आपको बहुत मेहनत ना करनी पड़े और सभी चीजें आराम से घर में ही उपलब्ध हो। बालों को झड़ने(Premature hair loss) से रोकने के लिए स्वस्थ जीवनशैली अपनायें।
बालों के असमय झड़ने के बहुत सारे कारण है किन्तु प्रदुषण के कारण, बालों की सफाई न करना गन्दी आदतों के कारण हमारे बाल रूखे -सूखे हो जाते है और टूटने और झड़ने लगते है। जिसका नतीजा बालों के पतझड़ के रूप में सामने आता है। स्टाइल की मार, फैशन के चक्कर में लोग अपने बालों में कलरिंग, स्ट्रेटनिंग, रिबॉन्डिंग आयरनिंग आदि कराते रहते हैं। इनसे बाल खराब होते हैं और झड़ते भी हैं। इनसे बचना ही बेहतर है। आजकल कई कलर कम्पनियां कलर को अमोनिया फ्री होने का दावा कर बेच रहे है, लेकिन लगभग सभी तरह के हेयर कलर्स में यह होता है, जिससे बाल खराब होते हैं और गिर जाते हैं। कैंसर, टीबी, टायफायड जैसी बीमारियों के दौरान भी बाल झड़ने लगते हैं, लेकिन बीमारी ठीक होने के बाद बालों की ग्रोथ सामान्य हो जाती है। कोलेस्ट्रोल घटाने वाली दवाएं, ऑर्थराइटिस और अल्सर के इलाज में दी जाने वाली दवाएं विटामिन ए से बनी कुछ दवाएं, हाई ब्लडप्रेशर रोकने वाली बीटा ब्लॉकर दवाएं और एंटीथायरॉइड एजेंट्स की वजह से भी बाल झड़ने शुरू हो जाते हैं। हालांकि बीमारी ठीक होने पर ये बाल अक्सर दोबारा आ जाते हैं। आजकल लड़कियां खूब डाइटिंग करती हैं और इस दौरान उनके शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। बिना डॉक्टरी सलाह के की जाने वाली डाइटिंग के फेर में सूखे बेजान बाल या बालों का झड़ना देखा जाता है। बालों को खींचकर बांधने से भी बाल कमजोर होकर टूटने या गिरने लगते हैं। इसके अलावा मौसमी बदलाव से भी बाल झड़ सकते हैं लेकिन ऎसा कुछ ही दिन के लिए होता है। बालों के असमय झड़ने के प्रमुख कारण इस प्रकार है।
1. सही दिनचर्या का न होना- आज काल की भागदौड भरी लाइफस्टाइल में हम अपने काम की वजह से अपने बालों की और ध्यान ही नहीं दे पाते है। और लम्बे समय तक धुप और मिटटी वाली जगह पर रहते है। इसी कारण हमारे बाल लगातार झड़ते जाते है।
2. हार्मोन्स में संतुलन न होना – वैसे तो किसी भी हार्मोन्स के परिवर्तन होने के बाद शरीर में परिवर्तन आते ही है पर कभी -कभी कुछ हार्मोन्स के कारण तेजी से बदलाव आते है हार्मोन्स के कारण एकदम बहुत अधिक परिवर्तन आ जाए तो उसका असर बालों पर पड़ता है।
3. सही आहार न लेना – भोजन का हमारे शरीर से सीधा सम्बन्ध होता है। अगर हमारा भोजन पोष्टिक और संतुलित नही होगा तो इसका सीधा असर हमारे शरीर के विकास पर पड़ेगा। बालों पर भी यही बात लागु होती है जिस तरह शरीर के सभी अंगो को विटामिन और प्रोटीन की जरूरत होती है। बालों को भी होती है इसीलिए सही आहार लेना जरूरी है।
4. पाचन तंत्र का ठीक न होना- आजकल हमारी लाइफस्टाइल इस प्रकार बदल चुकी है कि हमें अपने स्वास्थ्य की कोई प्रवाह ही नहीं होती है जिसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है छोटी-छोटी स्वास्थ्य समस्या हो जाती है जिसमे पाचन तन्त्र का ठीक न होना एक है। अगर पाचन तन्त्र ठीक नहीं होगा तो वह हमारे बालों की जड़ों को कमजोर कर देगा जिससे बाल टूटने और गिरने लगते है
5. जीवन में तनाव का होना- तनाव एक ऐसी चीज है जो मनुष्य को अन्दर से खोखला कर देती है और जीवन में अधिक तनाव होना हमारे बालों पर असर करता है जिस कारण बाल तेजी से झड़ने लगते है और समय रहते तनाव को कम नहीं किया तो वह गंजा भी हो जाता है।
6. बालों में नहाने समय बहुत गर्म पानी डालना- कई लोग नहाते समय या बालों को धोने के लिए बहुत ही ज्यादा गर्म पानी का उपयोग करते है जिसका सीधा असर हमारे बालो पर पड़ता है और बालों को कमजोर बना देता है जिससे बाल झड़ने लगते है।

उपचार –
Premature hair loss

1. नीम- नीम और बेर के पत्तों को पानी में खूब उबालें। इस पानी को ठण्ड़ा करके इससे सिर के बाल धोयें और बाद में नीम के तेल का प्रयोग करें, इससे बालों का झ़ड़ना बन्द हो जाता है। बाल नहीं झड़ेंगे।
2.नींबू- बालों के झ़ड़ने या टूटने पर सिर में नींबू के रस में दो गुना नारियल का तेल मिलाकर अंगुलियों के पोरों से धीरे-धीरे बालों की मालिश करने से बाल झ़ड़ने बन्द हो जायेंगे।
3.हारसिंगार – हारसिंगार के बीजों को पीसकर लेप तैयार करें इसे नियमित सिर पर लगाये यह बालों के झड़ने और गंजेपन के लिए फायदेमंद उपाय है।
4.परवल- बाल झड़ने से रोकने के लिए क़ड़वे परवल के पत्तों को पीसकर रस निकालें और उसको सिर पर लगाये यह प्रयोग 2-3 माह तक करने से बालों का झ़ड़ना धीरे-धीरे बिल्कुल बन्द हो जाता है।
5.आंवला –एक बर्तन में नारियल का तेल डाल दें। अब उसमे 4-5 आंवला डालें। और उन्हें उबलने के लिए रख दें। जब तक तेल काला न पड़ जाए तब तक उसे उबलने दें। जब तेल काला पड़ जाये उसके बाद बर्तन को अलग ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा होने के बाद अब उस तेल से अपने जड़ों में मसाज करें। इसे लगभग 20 मिनट तक छोड़ दें और फिर हमेशा की तरह बालों को शैम्पू से धो लें।
6.मेथी- रातभर के लिए मेथी के बीज को भिगोकर रख दें। सुबह में बीज को निकल लें और मिक्स कर लें। कोशिश करें कि आपका पेस्ट गाढा नहीं होना चाहिए। अब इस मिश्रण को जड़ों और बालों की छोर तक लगाएं।
अब एक तौलिये से अपने बालों को ढक लें। इसे लगभग 40 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें। फिर ठंडे पानी से अपने बालों को धोएं।
7. मुलेठी- दूध में मुलेठी और केसर बराबर मात्रा में मिलाएं।
सोने से पहले इस मिश्रण को रूई से अपने जड़ों में लगाएं।
रातभर इसे ऐसे ही छोड़ दें। सुबह में अपने बालों को धो लें।
8. सबसे पहले प्याज का जूस निकालें। अब इसमें 1 से 2 चम्मच शहद जोड़ें। प्याज की गंध के लिए आप गुलाब जल भी मिला सकते हैं। अब इस मिश्रण को अपने बालों में लगाएं और 40 से 50 मिनट के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें। फिर अपने बालों को पानी से धो लें।
9. एक कप गर्म पानी में दो ग्रीन टी के बैग को डालें। अब गर्म पानी को ठंडा होने के लिए रख दें। अब टी बैग को निकाल लें। और उस मिश्रण को बालों को धोने के लिए इस्तेमाल करें। मिश्रण से बालों को धोने के बाद जड़ों में मालिश करें। मालिश करने के बाद बालों में शैम्पू कर लें।
10. नारियल के तेल को थोड़ा गर्म कर लें। धीरे धीरे अपने बालों और जड़ों में नारियल का तेल लगाएं और मालिश करें। आधे घंटे के लिए या रातभर के लिए तेल को लगा छोड़ दें। फिर शैम्पू से अपने बाल धो लें।

⇒बालो को मोटे घने और लम्बे बनाये इस घरेलू तेल से | Get Long and Thick Hair Naturally⇐click करें