शीघ्रपतन(Premature ejaculation)की समस्या को करे जड़ से खत्म

375
शीघ्रपतन (Premature ejaculation)की समस्या

शीघ्रपतन(Premature ejaculation) वह स्थिति है जिसमें किसी पुरुष का सम्भोग के दौरान उसके साथी की तुलना में जल्दी ही वीर्य का स्खलित हो जाना,या स्त्री पुरुष का आनन्द की चरम सीमा तक पहुंचने से पहले ही वीर्यपात हो जाने को हो शीघ्रपतन कहते है। शीघ्रपतन चिंता का कारण इसलिए है। क्योकिं यह सम्भोग को कम आनंददायक बनाता है और आपके और आपके जीवन साथी के रिश्तों पर विपरीत प्रभाव डालता है जिससे व्यक्ति निराश हो जाता है। और तनाव की और चला जाता है जिसके कारण यह समस्या और बढ़ जाती है।

यह व्यक्ति के आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाता है और पार्टनर को असंतुष्ट छोड़ देता है। स्खलन हमारे तंत्रिका तंत्र द्वारा कंट्रोल किया जाता है। जब पुरुष का लिंग उत्तेजित होता हैं,तो यह संकेत आपके रीढ़ की हड्डी और दिमाग में भेजे जाते हैं। जब पुरुष उत्तेजना के एक निश्चित स्तर तक पहुँचते हैं, तब यह संकेत आपके दिमाग से आपके प्रजनन अंगों में आता है और लिंग के माध्यम से वीर्य स्राव करता है।

सेक्स क्रिया का मानव जीवन की खुशहाली में बहुत महत्वपूर्ण योगदान होता है। सेक्स या संभोग के कारण ही लोग एक-दूसरे के नजदीक आते हैं और जीवन को आनन्ददायक तरीके से जी पाते हैं। कई बार सम्भोग के दौरान पुरुषों का शीघ्रपतन हो जाता है। सच यह भी है कि कई लोगों को शीघ्रपतन की समस्या के कारण उनकी पारिवारिक जिंदगी में उदासी छाने लगती है।

ऐसे रोगी शीघ्रपतन का उपचार कराने के लिए बहुत प्रयास करते हैं लेकिन शीघ्रपतन का सटीक उपचार नहीं मिल पाने के कारण लोगों को इस समस्या से निजात नहीं मिलती। इसकी सबसे बड़ी वजह मानसिक कमजोरी है। जो व्यक्ति सेक्स को लेकर जितना कम जानता है, वह सेक्स के दौरान शीघ्रपतन का शिकार उतनी जल्दी होता है। अगर सेक्स की सीमा को लंबे समय तक ले जाना है, तो पुरुषों को मानसिक रुप से जागरुक और मज़बूत होना पड़ेगा। उन्हें स्वंय पर नियंत्रण करने की ज़रुरत है।

भारत के लगभग 30 से 40 प्रतिशत पुरुषों को यह समस्या है। वैसे यह समस्या कभी-कभी सम्भोग करते-करते अपने आप भी ठीक हो जाती है। यह बड़ी समस्या तब बन जाती है जब पुरुष इसकी वजह से किसी तरह की हीन भावना का ग्रस्त हो जाते हैं और खुद को नीचा समझने लगते हैं।

शीघ्रपतन के कारण- वैसे इसका कोई ठोस कारण का अभी तक पता नहीं चला है पर डॉक्टर बताते है कि मनोवैज्ञानिक और जैविक कारकों का जटिल संपर्क होने के कारण ऐसा होता है इसके अलावा जो अधिक बार और नियमित रूप से हस्तमैथुन करते है,तुरंत असर करने वाली दवाइयों का सेवन करने से,शुरुआत में यौन संबंधो का अनुभव न होना,

अपने शरीर के प्रति नकारात्मक छवि रखना, तनाव में रहना, अनुवांशिकता भी इसका प्रमुख कारण हो सकती है, मूत्र मार्ग में संक्रमण होने से, शरीर में यौन हार्मोन्स में बदलाव होने से, शीघ्रपतन के बारे में ज्यादा सोचना, या नपुसंकता होने के कारण भी ऐसा हो सकता है इसलिए पहले नपुसंकता का इलाज कराएँ। इसके बाद ही शीघ्रपतन का इलाज संभव है।

इस 1 घरेलु चीज से आप बढ़ा सकते हैं अपनी सेक्स पावर (Sex Power)

अन्य कारण
अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना।
नशीले पदार्थों को लेना जैसे अफीम, चरस आदि का सेवन करना।
बीडी,सिगरेट गुटखा आदि का सेवन अधिक करना।
एंटीबायोटिक दवाओं को अधिक मात्रा में सेवन करना।
जंकफूड जैसे पिज्जा, बर्गर, पेस्ट्री, कोल्डड्रिंक आदि का अधिक सेवन करना।

शीघ्र पतन के लक्षण – उत्तेजना आने के कुछ सेकेण्ड या मिनट के भीतर ही शीघ्रपतन हो जाना, सम्भोग आरंभ होने के 60 सेकेण्ड के अन्दर पुरुष का स्पर्म बाहर हो जाए, तो शीघ्रपतन की समस्या समझना चाहिए,यौन उत्तेजना कम होना,संभोग क्रिया शुरू होते ही, या होने से पहले वीर्यपात हो जाना आदि लक्षण हो सकते है।
घरेलू उपचार –
उड़द दाल की खिचड़ी-

उड़द दाल और चावल की खिचड़ी बनाकर उसमें देसी घी मिलाकर सुबह-शाम का सेवन करें। खिचड़ी खाने के बाद एक गिलास गुनगुना मीठा दूध पी लें। इसका सेवन लगभग एक महीने तक करें। तभी आपको इसका लाभ मिलेगा।
तरबूज- एक तरबूज लेकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें। इसमें सेंधा नमक और सौंठ का पाउडर मिलाएं और फिर इसका सेवन करें। तरबूज के अंदर फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं जो कामेच्छा बढ़ाने में सहायक है और शीघ्रपतन को भी ठीक करता है।
अश्वगंधा- 5 ग्राम अश्वगंधा पाउडर लेकर उसी बराबर मात्रा में उसमें खांड या मिश्री मिला लें। और एक गिलास गुनगुने दूध के साथ सुबह-शाम दिन में दो बार इसका सेवन करें और ऐसा लगातर 3 महिनों तक करते रहें। शीघ्रपतन जड़ से खत्म हो जाएगा।
हरा प्याज़- शीघ्रपतन की समस्या के लिए हरा प्याज बहुत लाभदायक है हरे प्याज लेकर उनको पीस लें और इसमें पानी मिला लें। और सुबह-शाम भोजन करने से पहले पी लें। इसका सेवन आपको लगभग एक महीने तक करना है।
भिंडी पाउडर- रात को सोने से पहले एक गिलास गुनगुने दूध में 10 ग्राम भिंडी पाउडर मिलाकर पी लें। ऐसा लगातार एक महीने तक करें। लाभ अवश्य होगा।
लहसुन-सभी प्रकार की सेक्स समस्याओं में लहसुन बहुत ही लाभकारी होता है। प्रतिदिन आपको 3 से 4 कच्चे लहसुन की कलियों का सेवन करें। इसका रोजाना सेवन करने शीघ्रपतन की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी।
काजू का हलवा -काजू का हलवा असली घी में बनाकर सम्भोग करने से दो घंटे पहले खा लें। इससे आपको शीघ्रपतन में लाभ होगा। इसके लिए आप काजू की खीर बनाकर भी खा सकते है।

इस तरह हो रहा है युवाओं का पतन PART- 1 | Save your future click करे