उच्च रक्तचाप (high blood pressure)की समस्या के कारण बचाव उपचार

92

हाई बीपी (high blood pressure) क्या होता है?

आजकल की भाग-दौड़ भरी जीवन शैली, गलत खानपान और तनाव के कारण लोग कई बिमारियों से ग्रसित होते जा रहे है। उनमे से एक ऐसी ही बीमारी है हाई ब्लड प्रेशर(high blood pressure)। हाई ब्लड प्रेशर अब एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या बन गई है। हाई ब्लड प्रेशर (high blood pressure)के वक्त हमारे शरीर में खून का प्रवाह बहुत तेज़ हो जाता है। ऐसी स्थिति में हमारे शरीर में हृदय को अत्यधिक काम करना पड़ता है। हमारा हृदय धमनियों के जरिये से रक्त को शरीर में पंप करता है जिससे हमें जीवन मिलता है।
हमारी धमनियों में बहने वाले खून के लिए एक निश्चित दबाव आवश्यक है। जब किसी कारण से यह दबाव अत्यधिक बढ़ जाता है, तब धमनियों पर दबाव पड़ता है और इस स्थिति को हाई ब्लड प्रेशर कहा जाता है। लगातार हाई ब्लड प्रेशर रहने से हमारे शरीर को कई तरह के नुकसान पहुंचा सकता है। यहाँ तक की हार्ट अटैक भी हो सकता है। हाई ब्लड प्रेशर एक ‘साइलेंट किलर’ के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि ज्यादातर लोगों को कोई लक्षण अनुभव ही नही होते हैं जब तक उन्हें हार्ट अटैक या स्ट्रोक जैसी कोई गंभीर समस्या नहीं हो जाती।
जबकि कुछ लोगों में निम्न लक्षण हो सकते हैं नाक से खून बहना,सिर दर्द, सांस लेने में दिक्कत, चक्कर आना, सीने में दर्द,मूत्र में खून आना आदि लक्षण होते है। सामान्य तौर पर हाई ब्लड प्रेशर की वजह से कोई लक्षण नजर नही आते हैं, इसलिए हाई ब्लड प्रेशर और इसकी गंभीरता से बचने के लिए, समय- समय पर इसकी जाँच आवश्यक रूप से करा लेनी चाहिए। यदि आप इसे हल्के में लेते है तो यह हार्ट अटैक,ब्रेन अटैक, और अंधेपन जैसी गंभीर समस्याओं का कारण बन सकता है और इससे आपकी जान भी जा सकती है।
इसको नज़रअंदाज़ करना एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या का कारण बन सकता है। हाई ब्लड प्रेशर को ठीक करने के लिए आपको भोजन और जीवन शैली में कुछ आवश्यक परिवर्तन करने होंगे। साथ ही थोड़ा सा ध्यान रखने से आप इस समस्या से बच सकते हैं। हमेशा मुस्कुराते रहे और हाई बीपी से बचने के लिए तनाव से दूर रहें।

हाई ब्लड प्रेशर होने के कारण-high blood pressure

बढती उम्र के साथ-साथ हाई ब्लड प्रेशर होने का खतरा बढ़ जाता है
60 वर्ष के बाद इसका खतरा अधिक रहता है।
अनुवांशिकता के कारण भी हाई ब्लड प्रेशर हो सकता है।अगर आपके परिवार में आपके माता-पिता या किसी करीबी सदस्य को उच्च रक्तचाप है तो आपको यह रोग होने के सम्भावना अधिक होती है।
मोटापे के कारण भी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है कम वजन वाले लोगो की तुलना में मोटापे से ग्रस्त लोगों में यह समस्या अधिक होती है।
शारीरिक परिश्रम कम करने वाले लोगों को भी हाई ब्लड प्रेशर अधिक होती है।
बीडी,सिगरेट का सेवन करने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और जिससे ह्रदय ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए तेजी से धडकता है जिससे बीपी बढ़ जाती है।

बचाव के उपाय-

हाई बीपी को ठीक करने के लिए जीवनशैली में परिवर्तन लाना होगा
अगर आपका वजन ज्यादा है तो इसे तुरंत कम करें।
बीडी,सिगरेट,और शराब का सेवन बिलकुल भी नहीं करें।
ज़्यादा से ज़्यादा फल, सब्ज़िया,का खाने में प्रयोग करें।
तनाव से मुक्त रहें।
आयोडीन नमक का सेवन नहीं करें।
चीनी (शक्कर) व चीनी से बने उत्पादों का सेवन नहीं करें।
ब्लड प्रेशर की नियमित रूप से जाँच कराते रहे।

ब्लड प्रेशर का घरेलू उपचार –

लहसुन- एक लहसुन की कली लें और सुबह-शाम एक चम्मच शहद के साथ ले सकते है। भोजन बनाने में भी लहसुन का प्रयोग कर सकते है।
आंवला- आंवला हर रोग में उपयोगी होता है। दो चम्मच आंवले का रस लेकर एक गिलास साफ पानी मिलाकर रोज सुबह खाली पेट लें।
मेथी- आधा चम्मच मेथी के बिज एक गिलास गर्म पानी में डालकर इसे रात भर के लिए छोड़ दें। और सुबह उठते ही खाली पेट इस पानी का सेवन करें। लाभ मिलेगा।
प्याज का रस- आधा चम्मच प्याज के रस में आधा चम्मच शहद में अच्छी तरह से मिला लें और सुबह-शाम बराबर मात्रा में लें। बीपी में आराम मिलेगा।
नारियल पानी- हाई बीपी की समस्या से ग्रसित व्यक्ति को नारियल पानी का सेवन रोज सुबह करना चाहिए।
नींबू- आधे निम्बू के रस में एक कप पानी डालकर उसे गर्म कर लें। इसे रोज सुबह खाली पेट पीने से हाई बीपी में आराम मिलता है।

⇒हाई बीपी हो या लो बीपी 10 मिनट में बिलकुल ठीक करेगी यह दवा – Cure High BP and Low BP⇐click करें