बार-बार पेशाब (Frequent Urination) आने से है परेशान तो अपनाये ये 10 असरदार घरेलू नुस्खे

42

बहुमूत्र (बार बार पेशाब आना) की समस्या कैसे करे ठीक ?

बहुमूत्र रोग (frequent urination) में बार बार पेशाब आती है। और थोड़ी थोड़ी पेशाब आती है। बार बार पेशाब (frequent urination) जाने का मन करता है। यह रोग बच्चों तथा युवाओं को अधिक होता है और अधिकाशत:अनुवांशिक है। इस रोग में कब्ज,अपच,अधिक मात्रा मूत्र का आना और नींद न आना इस तरह की शिकायतें रहती है। रोगी प्रतिदिन कमजोर होता जाता है कमर और कमर के निचे के हिस्सों में दर्द रहता है।

घरेलू उपाय जिससे यह बीमारी ठीक होती है :-

1.आंवले का सुखा चूर्ण या आंवले का रस गुड़ के साथ मिलाकर लेने से बीमारी में लाभ होता है।

2. 20 ग्राम काले तिल और 10 ग्राम अजवायन को मिलाकर पाउडर बनालें फिर इस पाउडर को 50 ग्राम गुड़ में मिलाकर सुबह-शाम 1-1 चम्मच सेवन करें।

3.रीठे की गुठली का चूर्ण 1-1 चम्मच सुबह-शाम ताजे पानी से लेने पर बीमारी में लाभ मिलता है।

4.टेसू के फुल +दालचीनी +कलमी शोरा +काले तिल +राई सभी को समान मात्रा में मिलाकर चूर्ण बनालें और प्रतिदिन सुबह-शाम शहद के साथ मिलाकर चाटें।

5.प्रात;काल खाली पेट अदरक का रस 1 चम्मच लेने से बहुमूत्र (frequent urination) की शिकायत दूर होती है।

6.बहेड़ा और जामुन की गुठली दोनों को बराबर मात्रा में पिस लें और प्रतिदिन 1 चम्मच सादा पानी के साथ लें।

7.रात्रि विश्राम से पहले गाय के दूध में पकाएं हुई 4 छुआरे खाने से बहुमूत्र (frequent urination) के रोग में आराम मिलता है।

8. 10 ग्राम खसखस के दाने और 10 ग्राम गुड़ -दोनों को मिलाकर प्रतिदिन सुबह-दोपहर-शाम सेवन करें।

9. पिस्ता,मुनक्का और काली मिर्च बराबर मात्रा में (6 दाने पिस्ता,6 दाने मुनक्का,6 काजू )सुबह-शाम चबाकर खाने से बहुमूत्र की बीमारी में लाभ होता है।

10.मुलहठी,काली मिर्च और मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना लें तथा प्रतिदिन सुबह-शाम आधा चम्मच चूर्ण घी में पेस्ट बनाकर चाटें।

ये भी पढ़ें  अगर पेशाब में हो जलन तो अपनाएं ये 8 बेहतरीन घरेलू नुस्खे !

⇒तीन बार प्रेशर आएगा और आखरी बार में पानी पानी शरीर से बाहर निकलेगा – Clean the whole belly at once⇐click करें