रतौंधी (Night blindness)की समस्या के 11 घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपचार !

41

रतौंधी (Night blindness)का घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज

रतौंधी(Night blindness), आंखों की एक बीमारी है। इस रोग के रोगी को दिन में तो अच्छी तरह दिखाई देता है, लेकिन रात के वक्त वह नजदीक की चीजें भी ठीक से नहीं देख पाता।
रोगी की आँखों की जाँच के दौरान पता चलता है कि आँखों का कॉर्निया (कनीनिका) सूख-सा गया है और आई बॉल (नेत्र गोलक) धुँधला व मटमैला-सा दिखाई देता है।
उपतारा (आधरिस) महीन छिद्रों से युक्त दिखता है तथा कॉर्निया के पीछे तिकोनी सी आकृति नजर आती है। आँखों से सफेद रंग का स्त्राव होता है। अत्यधिक धुल,तीव्र प्रकाश,और दूषित पर्यावरण के कारण रतोंधी होती है। इसमें रोगी को रात्रि में बिलकुल नहीं दिखाई देता है तथा दिन में ठीक दिखाई देता है।

इसके घरेलू उपाय निम्न लिखित है:-

1.तुलसी के पत्तों का रस दिन में 3-4 बार आँखों में डालें।

2.सफेद प्याज का रस आँखों में डालने से रतोंधी में लाभ होता है।

3.देशी गाय का मूत्र आँखों में डालने से काफी लाभ होता है।

4.हरे धनिये का रस आँखों में डालने से लाभ होता है।

5.आँखों में शुद्ध शहद लगाने से भी काफी आराम मिलता है।

6.प्रतिदिन रात्रि विश्राम से पहले त्रिफला चूर्ण का सेवन करे और रात्रि में भिगोये हुये त्रिफला के पानी से आँखों को धोये।

7.बथुए के पत्तों का रस आँखों में डालने से रतौंधी ठीक होती है।

8.गुलाब जल में शुद्ध रसौत फूली हुई फिटकरी और जरा सा सेंधा नमक मिलाकर शीशी में भर लें और प्रतिदिन आँखों में डालें।

9.गुलाब जल में ताजे खीरे का रस और अनार का रस मिलाकर बूंद-बूंद डालने से आराम मिलता है।

10. दुब का रस आँखों में डालने से काफी आराम मिलता है।

11.करेले के पत्तो के रस में थोडा काली मिर्च पीसकर मिलाये और आँखों के बाहरी हिस्सों पर लगायें।

⇒क्या आप जानते है खाली पेट पानी पीने से शरीर में क्या होता है – Drink Water on Empty Stomach⇐click करें 

⇒आँखों के रोग आँख दुखना(eyes pain),आँखों की सुजन एवं जलन को कैसे करे ठीक!⇐click करें