ततैया या मधुमक्खी के काटने(Wasp or Bee Bites) पर यह 8 घरेलू उपचार करें

55
ततैया या मधुमक्खी का काटना(Wasp or Bee Bites)-

ततैया या मधुमक्खी(Wasp or Bee Bites)का काटना आम समस्या है। हमारे साथ बहुत बार ऐसा होता है कि हम कही बाहर जा रहे हो तब हमे कोई कीड़ा काट लेता है अधिकतर कीड़ों के काटने से ज्यादा दर्द नहीं होता पैर कुछ कीड़े ऐसे भी होते है जिनके काटने से हमें बहुत तेज दर्द होता है। कुछ कीड़े ऐसे भी होते है कि जिनके काटने से हमें संक्रमण हो जाता है।

ऐसे ही कुछ कीड़े होते है ततैया, बर्र, मधुमक्खी और काला भौरा आदि। इनके काटने से दर्द के साथ साथ संक्रमण भी हो जाता है इनके डंक में ऐसा पदार्थ होता है जिससे बहुत दर्द होता है और उस जगह पर सुजन आ जाती है। कई मामलो में आपको आपातकालीन उपचार की भी जरूरत पड सकती है। ततैया एक प्रकार का कीट होता है। यह भी मधुमक्खी की ही भांति एक उड़ने वाली प्रजाति के ततैया का डंक भी जहरीला होता है। इसके काटने के बाद भी जलन, दर्द और सूजन आना भी शुरू हो जाती है
मधुमक्खी या ततैया के काटने के लक्षण – इनके काटने के बाद काटी हुई जगह पर सूजन आ जाती है। उस जगह पर बहुत दर्द भी होने लगता है जहाँ सुजन आती है वह जगह लाल हो जाती है
इसके काटने से सूजन वाली जगह में इन्फेक्शन फैल जाता है।

घरेलू उपचार –
1.मधुमक्खी या ततैया के डंक मारने के बाद किसी लोहे की चीज़ को गर्म करके काटी हुई जगह पर लगाकर डंक निकालना चाहिए।
2.मधुमक्खी या ततैया के काटने के बाद निम्बू पानी में काला नमक मिलाकर पीने से दर्द का असर कम होने लगता है।
3.जिस स्थान पर मधुमक्खी या ततैया ने काटा है उस स्थान पर चुना लगाने से उसके कांटे का जहर खत्म हो जाता है।
4.मधुमक्खी या ततैया के काटने पर सुजन वाली जगह पर एलोविरा के पौधे के जेल को निकालकर लगाने से सूजन कम हो जाती है।

5.मधुमक्खी या ततैया के काटने के बाद मिटटी के तेल लगाने से दर्द कम होता है और सुजन भी नहीं आती है।

6.तुलसी के पत्तो का पेस्ट बनाकर सूजन वाली जगह लगा सकते है।

7.ठंडी बर्फ की सिकाई करने पर काटने का दर्द काम हो जाता है।
8.मधुमक्खी ततैया के काटने पर sillicea 200 की एक बूंद 10-10 मिनट के अंतर में तीन बार जीभ पर रख लेनी है 10-10 मिनट पर 1-1 बूंद और लेनी है। और आप देखेंगे की वो डंक अपने आप निकल कर बाहर आ जायेगा सिर्फ तीन डोज में आधे घंटे में आप रोगी को ठीक कर सकते है। यह दवाई और भी बहुत काम आती है। अगर आप सिलाई मशीन में काम करती है तो कभी कभी सुई चुभ जाती है और अन्दर टूट जाती है उस समय भी आप ये दवाई ले लिजिए ये सुई को भी बाहर निकाल देगी।

आप इस दवाई को और भी कई परिस्थितियों में ले सकते है जैसे कांटा लग गया हो,कांच घुस गया हो,ततैया ने काट लिया हो,मधुमक्खी ने काट लिया हो तो ये सब जो काटने वाले अन्दर जो छोड़ देते है उन सब के लिए आप इसको ले सकते है बंदूक की गोली लगने पर गोली को बाहर निकालने के लिए भी इसका इस्तेमाल कर सकते है बहुत तेज दर्द निवारक है और जो कुछ अन्दर छूटा है उसको बाहर निकालने की दवाई है बहुत सस्ती दवाई है 5 मिली.सिर्फ 10 रूपये की आती है इससे कम से कम 50 से 100 लोगों का भला हो सकता है

⇒आज होगा शहद बेचने वाले Commercial Brands का पर्दाफाश⇐click करें