मिरगी के दौरों(Epileptic seizures)को ठीक करने के आसन,असरकार 10 घरेलू उपाय

50

मिर्गी के दौरों (Epileptic seizures) को ठीक करने के जबरदस्त नुस्खे :-

शारीरिक तथा मानसिक रूप से कमजोर व्यक्तियों को मिर्गी(Epileptic seizures) अधिकांश रूप से आती है।अत्यधिक शराब पीना,अधिक शारीरिक श्रम,सिर में चोट लगने से यह बीमारी हो सकती है।इस रोग में अचानक से दौरा पड़ता है और रोगी गिर पड़ता है।

हाथ और गर्दन अकड जाती है ,पलकें एक जगह रुक जाती है ,रोगी हाथ पैर पटकता है,जीभ अकड जाने से बोली नहीं निकलती,मुँह से पिला झाग निकलता है। दांत किटकिटाना और शरीर में कपकपी होना सामान्य रूप से देखा जाता है।

चारों तरफ या तो काला अँधेरा दिखाई देता है या सब चीजें सफेद दिखाई देती है। इस तरह के दौरे 10-15 मिनट से लेकर 1-2 घंटे तक के भी हो सकते है । पुनः रोगी को जब होश आता है तब थका हुआ होता है और सो जाता है।

इसके घरेलू उपचार निम्न लिखित है।

1. दौरा पड़ने पर रोगी को दायीं करवट लिटायें ताकि उसके मुँह से सभी झाग आसानी से निकल जाएँ। दौरा पड़ने के समय रोगी को कुछ भी न खिलाये बल्कि दौरे के समय अमोनिया या चुने की गंध सुंघानी चाहिए इससे उसकी बहोशी दूर हो सकती है।

2. ब्राम्ही बूटी का रस 1 चम्मच प्रतिदिन सुबह-शाम पिलाने से आधा रहने पर हल्का सा सेंधा नमक मिलाकर दिन में 2 बार पिलायें।

3. 20 ग्राम शंख पुष्पी का रस और 2 ग्राम कुटका चूर्ण शहद के साथ मिलाकर चाटें।

4. नीमकी कोमल पत्तियां ,अजवायन और काला नमक इन सबको पानी में पीसकर पेस्ट बनाकर सेवन करे।

5. शरीफा के पत्तो के रस की कुछ बुँदे रोगी के नाक में डालने से जल्दी होश आता है।

6.नींबू के रस में हींग मिलाकर चटाने से काफी लाभ होता है ।

7.आक की जड़ का पाउडर बकरी के दूध में घोलकर रोगी को सुघाएं।

8.तुलसी के 4-5 पत्ते कुचलकर उसमे कपूर मिलाकर रोगी को सुघायें। इससे काफी आराम मिलता है।

9.प्याज का रस पानी में घोलकर पिलाने से भी काफी आराम मिलता है।

10. मेहंदी के पत्तों का रस दूध में मिलाकर पिलाने से काफी लाभ होता है।

⇒कोई भी व्यक्ति हार्ट अटैक से नही मरेगा, इसे देखने के बाद – Reason and Remedy of Heart Blockage⇐click करें