अगर आप मोटापा (obesity)कम करना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को पढ़ें!

118

मोटापे (obesity)की समस्या –

मोटापा (obesity)एक ऐसी बीमारी है, जिससे आज दुनिया भर में लगभग हर पाँचवां व्यक्ति जूझ रहा है। मोटापा (obesity)के कारण से हम अपने लिए न जाने कितने रोगों को निमन्त्रण दे रहे है। विज्ञान जगत भी मानता है कि मोटापे के कारण कई सारी बीमारियाँ हमें घेर लेती है। कई लोगों में यह मोटापा अनुवांशिक होता है, तो कुछ लोग गलत खान-पान की आदतों के कारण इस मोटापे से ग्रस्त हो जाते है। हमारे शरीर पर जब बहुत अधिक मात्रा में वसा जमा हो जाती है तो उससे हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है
जिस व्यक्ति का वजन bmi (बॉडी मास इंडेकस) से ज्यादा हो उस व्यक्ति की की गिनती मोटे व्यक्तियों में की जाती है जब व्‍यक्ति का वजन सामान्‍य वजन से ज्यादा हो जाए या जरूरत से ज्‍यादा शरीर में फैट जमा हो जाए। तो उसे मोटापा कहते है। मोटापा बढने से हमारे शरीर में बहुत सी बीमारियां, जैसे दमा,अस्थमा,हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर आदि रोगों के होने की संभावना बढ़ जाती है। अगर कोई व्यक्ति बहुत अधिक मोटा है तो यह उसके स्वास्थ्य के लिए खतरा बन सकता है। ऐसे में व्यक्ति अगर मोटापे की जाँच कराकर समय पर अपना वजन कम नहीं करता है तो वह कई जानलेवा बीमारियों का शिकार हो सकता है।
व्यक्ति परिश्रम ,व्यायाम और दैनिक गतिविधियों के जरिये जितना ज्यादा क्रियाशील रहेगा। वह उतनी ही कैलोरी खर्च करेगा। परन्तु आज के समय में कोई भी व्यक्ति योग,व्यायाम,परिश्रम करना ही नहीं चाहता है कंप्यूटर,मोबाईल फोन और टीवी जैसे संसाधनो के चलते पहले ही बहुत आलसी हो गया है। आलस्य के कारण ही लोग मोटापे के शिकार होते जा रहे है।
व्यक्ति जितनी कम मेहनत करेगा उसके शरीर की उतनी ही कम मात्रा में कैलोरी खर्च होगी जिससे शरीर में कैलोरी की मात्रा बढने से शरीर में धीरे-धीरे मोटापा बढ़ने लगता है।मोटापे के कारण और कम करने के उपाय आज सभी की जरुरुत बन चुके हैं। मोटापा बढ़ने के कारण महिला या पुरुष या बच्‍चे सभी इस गंभीर समस्‍या से सामना कर रहे हैं। क्योकि मोटापा कोई एक बीमारी न होकर कई बीमारियों का कारण है।

मोटापा बढने के अन्य कारण-

एक ही जगह पर बैठे रहना व्यायाम नहीं करना ,देर रात तक जागना,नींद पूरी नहीं होना,घी और तेल से बनी चीजों का सेवन
करना, अनुवांशिकता के कारण मोटापा होना,हार्मोनल असंतुलन के कारण मोटापा होना,गर्भावस्था के समय मोटापा होना, तनाव के कारण मोटापा बढना, शराब अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना
आदि कारणों से मोटापा बढ़ता है।

मोटापे से बचाव के उपाय –

मोटापे से बचना है तो ज्यादा मीठी चीजों का और ठंडी चीजों का सेवन नहीं करना है जैसे आईसक्रीम,कोल्डड्रिंक चीनी से बनी चीजों का सेवन नहीं करना है चीनी से बनी चीजों का को नहीं खाना है फ़ास्ट फ़ूड का सेवन नहीं करें क्योकि यह मोटापे बढने का एक बड़ा कारण है। रोज सुबह योगा और व्यायाम करें इससे मोटापा नहीं बढ़ेगा। रोज सात से आठ घंटे तक नींद लेनी है उचित नींद लेने से शरीर की चर्बी कम होती है।

मोटापा घटाने के घरेलू उपचार-obesity

निम्बू और शहद – एक गिलास पानी लेकर उसमें आधा निम्बू,एक चम्मच शहद और एक चुटकी कालीमिर्च डालकर सेवन करें। मोटापा कम होगा।
इलायची- रात को सोने से पहले दो इलायची खाकर गर्म पानी पी लें। इससे वजन कम करने में मदद मिलेगा। इलायची पेट में जमा फैट को कम करती है।
सौंफ – 7-8 सौंफ के दाने लेकर उसको एक कप पानी में पाँच मिनट तक उबालें। इसे छानकर सुबह खाली पेट गर्म ही पीना है।
त्रिफला चूर्ण- एक चम्मच त्रिफला चूर्ण लेकर रात को एक गिलास पानी में भिगो कर रख दें और सुबह इसे आधा होने तक उबालें। गुनगुना होने पर इसमें दो चम्मच शहद मिलाकर पिएँ। कुछ ही दिनों में निश्चित ही वजन कम होगा। आजमाया हुआ उपाय।
जीरा – जीरा, धनिया, अजवायन और सौंफ के मिश्रण की चाय बनाकर पिएं। इसमें दूध नही मिलाना है सिर्फ पानी की चाय ही पीनी है आप इसे खाना खाने के बाद पानी में उबालकर घूंट-घूंट भी पी सकते हैं। मोटापा कम होगा।

इसके अलावा सबसे कारगर उपाय तो यह है आप गेहूं की रोटियां खाना छोड़कर जौ की रोटियां खाना चालू कर दें। इससे आपका मोटापा तेजी से कम हो जाएगा। धन्यवाद 

⇒मोटापा दूर करने के 2 प्राचीन नुस्खे – 2 Best Fat and Weight Loss Methods⇐click करें