खाज – खुजली (Itching) की समस्या से निजात दिलायेंगें ये 10 आसान घरेलू नुस्खे

110
Itching

खाज – खुजली (Itching) की समस्या से निजात दिलायेंगें ये 10 आसान घरेलू नुस्खे खाज-खुजली (Itching)एक संक्रामक रोग है। जिसके कारण त्वचा पर छोटी-छोटी फुंसियाँ निकल आती है। और उनमे से पानी भी निकलता है। यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती है।

बदलते मौसम के कारण अधिकतर लोगों को दाद खाज की समस्या हो जाती हैं। अगर इस समस्या नजरअंदाज किया तो आगे चलकर ये एक्जिमा का रूप ले लेती है। इतना ही नहीं यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को आसानी से हो सकती है। इस रोग में एक परतदार स्किन पर गोल और लाल चकत्ते पड़ जाते है। जिसमें अधिक खुजली के साथ-साथ जलन भी होती है। इस समस्या से निजात पाने के लिए तरह-तरह के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं। इस रोग में एक परतदार स्किन पर गोल और लाल चकत्ते पड़ जाते है। जिसमें अधिक खुजली के साथ-साथ जलन भी होती है।

इस समस्या से निजात पाने के लिए तरह-तरह के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि घर पर मौजूद कुछ चीजों का इस्तेमाल करके आप आसानी से दाद खाज की समस्या से कुछ ही दिनों में छुटकारा पा सकते हैं। कभी-कभी पेट साफ न होने के कारण,कब्ज रहने से और खून में अशुद्धि होने से भी ये खुजली पैदा होती है। एक-दुसरे के कपड़े पहनने से भी यह रोग बढ़ता है। खुजली की तकलीफ रात के समय अधिक होती है। इसकी घरेलू चिकित्सा करके भी इससे मुक्ति पा सकते है।

कुछ घरेलू उपाय जिससे खुजली ठीक होती है-

1.नारियल के तेल में थोडा सा कपूर मिलाकर गर्म करें और खुजली वाले स्थान पर लगायें। गाय के घी में कुछ लहसुन मिलाकर गर्म करे और उसकी मालिश खुजली वाले स्थान पर करें।

2. नींबू के रस में पके हुये केले को मसलकर खुजली वाले स्थान पर लगायें। सरसों के तेल में हरी मिर्च को जलाकर उस तेल की मालिश करें । सरसों के तेल में लहसुन को गर्म करके तथा उसमें थोड़ी हल्दी मिलाकर तेल ठंडा होने पर मालिश करे।

3.भुने हुये सुहागे को पानी में मिलाकर लगाने से खूजली में आराम मिलता है। नारियल के तेल में आंवले की गुठली की राख मिलाकर लगायें। अजवायन का तेल खाज-खुजली पर लगाने से खुजली में काफी आराम मिलता है।

4.सरसों के तेल में नीम की छाल तथा चाल-मोगरा दोनों को पकाएं और उससे मालिश करें। सरसों के तेल में थोडा सा तेजपत्ता व थोडा सा बावची मिलाकर मरहम की तरह खाज-खुजली पर लगायें।

5.गाय के घी में आंवला +गंधक +कपूर +नीला थोथा बराबर मात्रा में मिलाकर खाज -खुजली पर लगायें बहुत जल्दी आराम मिलेगा। देशी गाय के गोबर-गोमूत्र का खाज-खुजली पर लेप करने से बहुत जल्दी आराम मिलता है।

6.नीम की छाल और त्रिफला चूर्ण,उसवा,कुटकी और गोरख मुंडी समान मात्रा में लेकर पानी में भिगों दें और उसे आग पर पकायें और उसकी भाप का अर्क तैयार करें इस अर्क रुई के फाहे से खाज-खुजली वाले हिस्सों पर लगायें।

7.करंज,नीम,तथा नीरगुंडी तीनो की छाल को पीसकर पानी में मिलाकर खाज-खुजली वाले स्थान पर लगायें। दूध,हरड,सेंधा नमक,वन तुलसी और चकवड़ इन सबको समान मात्रा में लेकर पिसें और खाज-खुजली पर लगाये।

8.बथुए के रस में तिल का तेल मिलाकर गर्म करे जब उसका पानी जल जाएँ तो खाज-खुजली के स्थान पर लगायें। तिल के तेल में हल्दी को मिलाकर लगाने से खाज-खुजली और चर्म रोग नहीं होता है।

9.नीला थोथा,मिटटी का तेल तथा नींबू का रस मिलाकर लगाने से खाज-खुजली ठीक होती है। दो चम्मच नारियल के तेल में एक चम्मच टमाटर का रस मिलाकर मालिश करने के बाद गर्म पानी से स्नान करें खुजली से आराम मिलेगा।

10. सूखे सिघाड़े के पाउडर को नींबू के रस में मिलाकर लगाने से चर्म रोगों में आराम मिलता है।

⇒सोराइसिस, दाद, एक्जिमा को 3 दिन में जड़ से ख़त्म करे – Cure Psoriasis Permanently in 3 Days⇐click करें