लीवर को स्वस्थ (Liver problem) रखने के घरेलु उपाय

32
Liver problem

लीवर को स्वस्थ (Liver problem) रखने के घरेलु उपाय लीवर शरीर के अहम् हिस्सों में एक हैं, ये हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए एक जरूरी ग्रन्थि हैं लीवर शरीर के 500 से अधिक कार्य को करने में काम आता हैं और ये शरीर की सबसे बड़ी ग्रन्थि हैं।

जो की पेट की दाहिनी तरफ निचे की और स्थित होता हैं और ये लाल भूरे रंग का होता हैं लीवर का वजन 2.5 से लेकर 3 पौंड तक होता हैं,जिगर को अंग्रेजी भाषा में (LIVER) कहते हैं। इसे और अन्य नामों से भी जाना जाता हैं। जिगर,कलेजा,लीवर,यकृत, आदि नामों से जानते हैं।

लीवर हमारे पाचन प्रणाली पर पूरा नियन्त्रण रखता हैं,और विषैले पदार्थो को शरीर से बाहर निकालने का कार्य करता हैं। दरअसल जिस व्यक्ति का लीवर खराब होता हैं उसे सर्दियों में अधिक ठंड और गर्मियों में अधिक बैचेनी महसूस होती हैं ऐसे में हमें अपने लीवर का बेहद अच्छे से ख्याल रखना चाहिए,

जीवन में हर व्यक्ति की इच्छा होती हैं की वो स्वस्थ रहे उसे कई गंभीर बीमारियों का सामना नहीं करना पड़े, लेकिन बिगडती दिनचर्या और खान-पान से लेकर खराब आदतों की वजह से कई मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता हैं

एक बार हमारे शरीर में किसी बिमारी ने प्रवेश कर लिया तो समझ लीजिए समय रहते इसका इलाज नहीं किया तो यह बीमारी शरीर में घर बनाकर बैठ जाती हैं।जिनके उपचार में कठिन उपचार कराने के बाद भी उनसे निपट पाना संभव नहीं रहता हैं शरीर में बीमारियों के आसानी से प्रवेश कर लेने से लीवर कमजोर होता हैं,जिससे इम्युनिटी सिस्टम बिगड़ता हैं,

इसी कारण शरीर कमजोर हो जाता हैं जिससे की बीमारियाँ शरीर में कब्जा लेकर बैठ जाती है। अगर लीवर खराब हो रहा होता हैं तो इसका असर शरीर पर देखने को मिलता हैं।
लीवर कमजोर होने के लक्षण – सबसे पहले लीवर खराब होने पर शरीर का रंग पिला पड़ने लगता हैं,

पेशाब के रंग में परिवर्तन, आँखों के निचे काले घेरे, मितली आना, जी घबराना, पेट में सूजन आना, पाचन तन्त्र डेमेज होना, मानसिक प्रोब्लम, नींद में कमी, शारीरिक कमजोरी, मुहँ में बदबू, लम्बे समय तक कब्ज की समस्या,


लीवर कमजोर होने के कारण –Liver problem

सिगरेट और शराब – सिगरेट और शराब की लत बेहत खराब होती हैं,जो लोग सिगरेट पीते हैं सिगरेट से निकलने वाले धुंए में पाएं जाने वाले जहरीले केमिकल्स हमारे लीवर को काफी हद तक नुक्सान पहुचा सकते हैं,

शराब भी हमारी सेहत के लिए अच्छा नहीं हैं शराब लीवर के लिए धीमी जहर पहुचाता हैं जो लोग हमेशा शराब पीते हैं उनका लीवर जल्द ही खराब हो जाता हैं जिस लोगो की सिगरेट और शराब की लत लग गई हैं उन्हें धीरे-धीरे कम करके छोड़ देनी चाहिए।

अधिक दवा का सेवन – खराब और अधिक दवा का सेवन नहीं करें अगर आपको दवा लेने की आदत हो गई हैं तो आप आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं ये आपके स्वास्थ्य के लिए इतनी खतरनाक नहीं हैं, पर खराब दवा लेने से बचें खराब और ज्यादा दवा लीवर को डेमेज कर सकती हैं।

पूरी नींद नहीं लेना – नींद पूरी लेना हमारे मस्तिष्क के साथ-साथ पुरे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करती हैं, इसलिए समय से सोये और समय से जागे पुरे 8 घंटे की नींद लेना जरूरी हैं। और लीवर को साफ़ करने के लिए उपवास करना भी अत्ति उत्तम हैं

उपवास के समय ठोस पदार्थ नहीं लिए जाते, फल या जूस लिए जाते हैं जो की ये आसानी से पचने की वजह से लीवर को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती और लीवर को आराम मिलता हैं।

मीठा – ज्यादा मीठा खाना सेहत के लिए वैसे भी अच्छा नहीं होता, पर जिसका लीवर खराब हैं उनके लिए तो मीठा खाना बेहद खतरनाक साबित होता हैं। ज्यादा मीठा खाना शरीर में एक्स्ट्रा शुगर जाना डाईबटीज (शुगर) का खतरा बढ़ जाता हैं, इसलिए हमें खाने में शक्कर से बनी चीजों का अत्यधिक प्रयोग नहीं करना चाहिए,शक्कर से बनी चीजों का परहेज करना जरूरी हैं ताकि हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर नहीं पड़े।

फैटी चीजों का सेवन कम करें – अगर आप फैट्स से बनी चीजों का सेवन अधिक करते हो तो फैटी लीवर और मोटापे जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, इसलिए तली-भूनी चीजों और फैट्स वाली चीजों का सेवन नहीं करें इससे फैटी लीवर भी हो सकती हैं।

नमक – नमक खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए बुरा होता हैं पर नमक के बिना तो हम कुछ भी खाना पसंद ही नहीं करते हैं। इस के बिना तो खाना ही अधूरा हैं। तो इसका इस्तेमाल करना हम बंद तो नही कर सकते पर नमक की मात्रा कम तो कर सकते हैं कोशिश करें की थोड़ा कम ही खाएँ और हफ्ते में एक या दो बार नमक खाएँ ही नहीं।

लीवर की कमजोरी कैसे दूर करें – लीवर की कमजोरी दूर करने के लिए खाने में लहसुन खाना न भूले लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाया जाता हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी माना जाता हैं। और लीवर की कमजोरी दूर करने के लिए हमें पालक, हल्दी,आँवला,ब्लैकबेरी, पपीता,आदि चीजों का सेवन करने से लीवर की कमजोरी दूर होगी ।

फैटी लीवर के लक्षण – पेट के दाएं भाग के उपरी हिस्से में दर्द, वजन में गिरावट,आँखों और त्वचा में पीलापन दिखाई देना, भोजन सही प्रकार से हजम नहीं होना इस के कारण एसिडिटी का होना, पेट में सूजन होना,कमजोरी महसूस करना,ये सब फैटी लीवर के लक्षण हैं,फैटी लीवर को हेपटीक स्टेटोसिस भी कहा जाता हैं,

इस स्थिति में लीवर पर अत्यधिक फैट जमा हो जाती हैं ये जमाव लीवर के कार्यो में बाधा उत्पन्न करता हैं, और शरीर के लिए जरूरी पित्त रस एवं इंसुलिन का उत्पादन धीमा कर देता हैं। कुछ गंभीर मामलों में लीवर पर हमेशा के लिए सकार लग जाता हैं और धीरे-धीरे लीवर फेल भी हो सकता हैं ये एक जानलेवा स्थिति होती हें जिसे लीवर सिरोसिस के नाम से जाना जाता हैं।

फैटी लीवर का उपचार- (1) एप्पल साइडर विनेगर लीवर से विषाक्त पदार्थो को बाहर निकाल देता हैं, ये लीवर को स्वस्थ बनाने में मदद करता हैं एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर डालकर रोज सुबह पीएं फैटी लीवर स्वस्थ होने लगेगा।

फैटी लीवर का उपचार – (2) फैटी लीवर उपचार के लिए आप नींबू का सेवन भी कर सकते हैं, नींबू विटामिन c से भरपूर होता हैं जो की एक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट हैं और ये लीवर की कोशिकाओं को रेडिकल डैमेज से रोकता हैं एक कप गुनगुने पानी में आधा नींबू निचोड़कर एक चम्मच शहद मिलाकर रोज सुबह पीएं इससे भी फैटी लीवर धीरे-धीरे स्वस्थ होने लगेगा।

यह भी पढ़े ⇒ लीवर(liver)को स्वस्थ रखने के 3 आसान घरेलु उपाय ⇐

लीवर खराब होने पर क्या करें – पालक और गाजर के रस का मिश्रण “लीवर” सिरोसिस के लिए फायदेमंद और घरेलू उपचार हैं. सेब और हरी पत्तेदार सब्जियाँ पाचन तन्त्र में उपस्थित जहरीली चीजों को बाहर निकालने में और लीवर को स्वस्थ रखने में मदद करता हैं, भुई आँवला या भू-धात्री एक ऐसी ओषधि हैं जो हमारे लीवर को सम्पूर्ण सुरक्षा देता हैं, इसका प्रतिदिन सेवन करना चाहिए।

लीवर के क्या-क्या कार्य हैं – लीवर शरीर के मुख्य अंगों में से एक हैं। और ये शरीर में अनेक प्रकार के कार्य भी करता हैं, लीवर पित्त का उत्पादन करने और भोजन को पचाने का काम करता हैं, पित्त एक प्रकार का पदार्थ होता हैं यह पित्ताशय की थैली में विटामिन और प्रोटीन के अवशोषण के लिए बहुत जरूरी होता हैं,यह शरीर में खून छानने का काम करता हैं,रक्त डीटोक्सिफिकैशन,भोजन का पाचन,रक्त का शुद्धिकरण,एंजाइम सक्रियण,पित्त उत्पादन, मलत्याग।

लीवर ठीक करने के लिए किन-किन चीजों का सेवन करें –
(1) लीवर को मजबूत बनाने के लिए लौकी ,हल्दी, हरा धनिया,गिलोय इसमें कम मात्रा काला नमक मिलाकर जूस बनाये इस जूस को सुबह खाली पेट पियें इसे पिने से लीवर की सारी गंदगी अपने आप निकल जायेगी और लीवर के विषैले पदार्थ निकालने के लिए आप गाजर,आँवला और सेंधा नमक मिलाकर जूस पी लें इसे पिने से लीवर की सूजन एक हफ्ते में ही खत्म हो जाएगी।

(2) लीवर ठीक करने के लिए जामुन के सीजन में ताजे पके जामुन खाने से भी लीवर स्वस्थ होता हैं, सुबह खाली पेट किशमिश खाने से भी लीवर स्वस्थ होता हैं।

लीवर केसे बढ़ जाता हैं – टाइप 2 डाईबटीज से पीड़ित मरीज जिनके शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा अधिक हो जाती हैं 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोग और ज्यादा मात्रा में तलाभुना खाने वालों में इसका खतरा रहता हैं। लीवर में फैट बढ़ने से अंग का आकार बढ़ जाता हैं इस कारण एंजाइम्स की मात्रा बढ़ने से लीवर की क्षमता प्रभावित होती हैं।

फैटी लीवर को स्वस्थ करने का उपाय – (1) अलसी पाचन के लिए बहुत अच्छी होती हैं इसके साथ ही फैटी लीवर से भी बचाती हैं।अलसी कोशिकाओं पर पड़ रहे ऑक्सीडेटिव स्ट्रेट को कम कर लीवर को हुए नुक्सान को घटाती हैं। अलसी को पाउडर के रूप में ले सकते हैं,अलसी पाउडर को सलाद पर डालकर खा सकते हैं।

(2) एक कप पानी में चार से पाँच डैडलियोन के फूलों को एक से दो मिनट उबालें। अब इस पानी को छानकर पी लें। डैडलियोन में पॉवरफुल बायोएक्टिव यौगिक होते हैं जो कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम कर सकते हैं। इसी तरह के उपायों की मदद से आप फैटी लीवर की समस्या खत्म कर सकते हैं।

लीवर की सूजन कैसे खत्म करें – (1)

ग्रीन टी का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में रहते हैं और ये लीवर की समस्याओं में भी फायदेमंद होती हैं,इसलिए अगर लीवर में सूजन हैं तो सुबह शाम ग्रीन टी जरुर पीएं इससे सामान्य स्वास्थ्य भी बेहतर रहता हैं।

(2) जीरा हर घर में काम में लिया जाता हैं यह पेट की समस्याओं में काफी अच्छा कारगर साबित होता हैं। लीवर सम्बन्धी समस्याओं को खत्म करने के लिए जीरा को पानी में उबालकर छानकर पीने से गैस नहीं बनती और लीवर को मजबूती मिलती हैं।

⇒ किडनी फेलियर से बचने का एकमात्र यही उपाय है – Solution For Kidney Failure Problem⇐ click करे