नींद न आने की समस्या (Sleep apnea) को जड़ से ख़त्म करें

36
Sleep apnea

नींद न आने की समस्या (Sleep apnea) को जड़ से ख़त्म करें इस सम्पूर्ण जगत लगभग हर प्राणी के लिए अपनी दिनचर्या के स्वाभाविक अन्तराल के बाद नींद अवश्य लेता है ऐसा क्यों होता है

इसका कारण तो वैज्ञानिक भी नही ढूढ़ पाए है परन्तु इतना अवश्य कहा जा सकता है प्रत्येक जीवधारी को स्वस्थ रहने के लिए नींद लेना बहुत आवश्यक है नींद बिना जीवन सम्भव ही नहीं है। आज की लाइफस्टाइल में लोगो ने अपनी दिनचर्या को तो बिगाड़ ही लिया है और इसी दिनचर्या के कारण ही लोगों को यह अनिद्रा की बीमारी हो गयी है। अनिद्रा एक ऐसी समस्या है जो दुनिया भर के लाखों लोगो को प्रभावित करती है। जिन व्यक्तियों को नींद नहीं आती है उनके लिए सोना भी मुश्किल हो जाता है। उनके लिए बिस्तर पर रात गुजरना भी भारी हो जाता है। और नींद नहीं आने के बहुत भयंकर नुकसान होते है नींद नहीं आने पर व्यक्ति को फिर दिन भर सुस्ती रहती है और दिन के समय में नींद आती है और व्यक्ति शारीरिक और मानसिक रूप से बीमार महसूस करते है। अनिद्रा के कारण व्यक्ति की मानसिक स्थिति में भी बदलाव हो जाता है और व्यक्ति में चिडचिडापन आ जाना,चिंता या तनाव रहना आदि हो सकते है। नींद नहीं आने की बीमारी किसी भी उम्र के व्यक्तियों को प्रभावित कर सकती है। यह बीमारी वयस्क पुरुषों की अपेक्षा में वयस्क महिलाओं में अधिक आम होती है। अनिद्रा के कारण स्कूल और काम के प्रदर्शन को कमजोर हो जाता है। इसके साथ ही यह चिंता,तनाव,अवसाद एकाग्रता की कमी,याददाश्त कमजोर होना,रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर कर देती है।

अनिद्रा के कारण-Sleep apnea

अनिद्रा या नींद न आने की कई कारण हो सकते हैं। कई बार कब्ज, अपच, बदहजमी,चाय, कॉफी और शराब और एल्कोहल का अत्यधिक सेवन, अनियमित जीवन शैली,गलत खान-पान, जंक फ़ूड का अधिक सेवन,शाम को भारी भोजन करना,सोने की गलत आदत, और पर्यावरण में परिवर्तन यानी अधिक सर्दी, गर्मी या मौसम में बदलाव होना आदि इसके कारण हो सकते है। इसके अलावा अधिक चिंता,मानसिक तनाव,मन में दबी हुई इच्छाएं, तीव्र कडवाहट,घबराहट आदि लिए हुए अगर बिस्तर पर सोने जाओगे तो भी आपको अनिद्रा हो सकती है।
अवधि के आधार पर अनिद्रा के दो प्रकार की होती है-

  • एक्यूट अनिद्रा(अल्पकालिक) – यह अल्पकालिक हो सकती है। तीव्र अनिद्रा एक रात से लेकर कुछ हफ्तों तक रह सकती है। फिर ठीक हो जाएगी।
  • क्रोनिक अनिद्रा- यह एक लंबे समय के लिए रह सकती है। जब व्यक्ति को एक महीने या उससे अधिक समय तक एक सप्ताह में कम से कम तीन रातों तक अनिद्रा होती है, तो उसे ‘दीर्घकालिक अनिद्रा’ कहा जाता है यह अधिक घातक होती है।
    अनिद्रा से होने वाली बीमारियाँ-
    अनिद्रा से आपको कई गंभीर बीमारियाँ हो सकती है जैसे ब्रेन स्ट्रोक,अस्थमा के दौरे,मिर्गी का दौरा,कमजोर इम्युनिटी पॉवर,
    दर्द के प्रति संवेदनशीलता,सूजन,मोटापा,डायबिटीज,उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर),हार्ट अटैक ,अवसाद ,सेक्स ड्राइव में कमी,याददाश्त कमजोर होना,निर्णय लेने की क्षमता खो देना आदि बीमारियाँ हो सकती है।
    अनिद्रा के लक्षण-
    रात को सोने में परेशानी,एक ही चीज के बारे में बार-बार सोचना,रात में जागते रहना,मेहनत नही करने पर भी थकान होना,बहुत जल्दी उठ जाना,सिर का भारी रहना,चिडचिडापन होना,किसी से भी मिलना बंद कर देना, आदि लक्षण हो सकते है।
    अनिद्रा से बचाव के उपाय-
    अनिद्रा दूर करने के लिए खाने से जुड़ी बातें
  • अगर आप कैफीन युक्त पेय पदार्थो का सेवन करते है तो एक या दो बजे के बाद इनका सेवन नहीं करें।
  • अगर आप शराब एल्कोहल का सेवन करते है तो इनका सेवन सीमित कर दें, और सोने से दो घंटे पहले अल्कोहल न लें।
  • शाम को सोने के तीन घंटे पहले खाना खा लें। शाम को आप भारी भोजन नहीं करें हल्का भोजन करें।
  • टहलने, जॉगिंग करने या तैराकी करने जैसे नियमित एरोबिक व्यायाम को अपनी रोजाना की आदत में शामिल करें।
  • रात को सोने का टाइम फिक्स करें और सुबह उठने का भी टाइम फिक्स करें। –
  • दिमाग को शांत करने और मांसपेशियों को आराम देने के लिए, ध्यान करना, गहरी सांस लेना आदि कर सकते है।
    अनिद्रा से बचने के लिए घरेलू उपचार-
  • अपने आहार में बादाम, अखरोट, दूध एवं दलिया को शामिल करें। इससे आपको अच्छी नींद आएगी।रात में सोने से पहले दूध पिएं।
  • रात के भोजन में सलाद जरुर खाएं। काबुली चना, केला, किवी इन चीजों का रात में सेवन करने से नींद अच्छी आती है।
  • रात में सोते समय पैरों को अच्छी प्रकार धोकर तलवों पर सरसों के तेल की मालिश करने से नींद अच्छी आती है।
  • दो चम्मच मेथी के पत्तों का जूस और एक चम्मच शहद को अच्छी तरह से मिलाकर सेवन करने से नींद अच्छी आती है।
  • आधा चम्मच दालचीनी पाउडर लेकर एक कप गर्म दूध में मिलाकर पीने से रात को नींद अच्छी तरह से आती है।
  • एक चम्मच जीरे को भून कर पीस लें। इसे एक कप गर्म पानी में मिलाकर पांच मिनट के लिए रख दें,सोते समय इसे पीने से अनिद्रा ठीक हो जाती है।
  • एक गिलास पानी में एक चम्मच सौंफ मिलाकर उबाल लें,और इसे दिन में दो बार पियें। अनिद्रा के बीमारी से राहत मिलेगी।

⇒ इन सब्जियों को गर्म करने से पहले 100 बार सोचे ⇐click करें