यूरिक एसिड (uric acid) के लिए रामबाण इलाज

45
uric acid

यूरिक एसिड (uric acid) के लिए रामबाण इलाज यूरिक एसिड क्या हैं यूरिक एसिड एक कार्बनिक यौगिक हैं जो हाइड्रोजन आक्सीजन और नाइट्रोजन जैसे तत्वों से मिलकर बनता हैं,

इसका आणविक सूत्र c5h4n403 हैं, और आणविक वजन 168 डालटन हैं, यूरिक एसिड हमारे शरीर में बनने वाला एक कैमिकल होता हैं जो शरीर में बनने के साथ-साथ भोजन के जरिये भी शरीर में प्रवेश करता हैं, आपने कभी महसूस किया होगा की घर में माता-पिता या बड़े-बुजर्गो के जोड़ो में दर्द की शिकायते रहती हैं? या उनके पेरो की उंगलियाँ एड़ियों और घुटनों में दर्द और सूजन रहती हैं या फिर वे गठीयाँ के शिकार हैं

तो सतर्क हो जाएँ सभी लक्षण उनके शरीर में यूरिक के बढ़ने के कारण हो सकते हैं। यूरिक एसिड की अधिक मात्रा शरीर में अनेक प्रकार की बीमारियाँ लाती हैं आइये जानते हैं की यूरिक एसिड क्या हैं इसको कम किस प्रकार से करें और नियन्त्रण में लाने के लिए क्या खाएँ और क्या न खाएँ?

यूरिक एसिड क्या हैं – (uric acid) एक अपशिष्ट बायोप्रोडेक्ट हैं। यह जब बनता हैं तब आपका शरीर प्युरीन को तोड़ता हैं। जो कुछ खाद्य पदार्थो में पाया जाता हैं। यूरिक एसिड हाई ब्लड प्रेशर से लेकर जोड़ों में दर्द समेत कई तकलीफों को न्योता देता हैं। जब किसी वजह से किडनी की फिल्टर यानी छानने की क्षमता कम हो जाती हैं तो यूरिया यूरिक एसिड में परिवर्तित हो जाता हैं

जिसके कारण हड्डियों के बीच में जमा हो जाता हैं यूरिक एसिड शरीर के (सेल्स) और उन चीजों से बनता हैं जो हम खाते हैं। इसमें से यूरिक एसिड का ज्यादातर हिस्सा किडनियों के जरिए फिल्टर हो जाता हैं, जो टॉयलेट के जरिये शरीर से बाहर आ जाता हैं। लेकिन अगर यूरिक एसिड शरीर में ज्यादा बन रहा हैं या किडनी फिल्टर नहीं कर पाती तो खून में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ जाता हैं।

यह भी पढ़े ⇒ अगर आप गैस की समस्या (Gas problem) से छुटकारा पाना चाहते हैं तो करें 6 यह उपाय⇐

और बाद में यह हड्डियों के बीच में जमा हो जाता हैं और इससे शरीर में कई समस्याए पैदा हो जाती हैं। यूरिक एसिड के बढ़ने से शरीर की मांसपेशियों में सूजन आ जाती हैं। जिससे हाथ-पैरों में चुभन और असहनीय दर्द और शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द हो सकता है। इससे हमारी बॉडी में कोई भी खतरा हो सकता हैं।

uric acid

यूरिक एसिड किस कारण होता हैं – यूरिक एसिड खानपान की लाइफस्टाइल में बदलाव यूरिक एसिड बढ़ने का सबसे बड़ा कारण हैं। अगर डायबटीज के मरीज है तो आपका यूरिक एसिड बढना तय हैं। क्योंकि ब्लडप्रेशर की दवाओं से और डायबटीज के मरीजों का भी यूरिक एसिड बढ़ने के ज्यादा मामले सामने आते हैं।

काफी समय रेड मीट, सी फ़ूड दाल राजमा,  मशरूम, गोभी, टमाटर, पनीर भिन्डी, अरबी और चावल भी यूरिक एसिड बढ़ने का कारण हैं। यूरिक एसिड शरीर में कैसे बनता हैं – शरीर में यूरिक एसिड प्युरीन नामक यौगिकों से बनता हैं, शरीर में प्युरीन के दो मुख्य स्त्रोत हैं भोजन और मृत कोशिकाएं अधिकाँश यूरिक एसिड पेशाब और मल त्याग में बाहर निकल जाता हैं।

रक्त में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा हुआ हो तो क्या होता हैं – बढ़े हुए यूरिक एसिड का वैज्ञानिक नाम (हाइपरयूरिसिमिया)हैं। अगर किसी के रक्त में यूरिक एसिड का उपयुक्त बढ़ने का खतरा बढ़ जाता हैं तो शरीर में इसके क्रिस्टल बन जाते हैं,

और ये शरीर के जोड़ जैसे हाथ-पैरों की उंगलियों के जोड़ों को प्रभावित कर गाउट जैसी बिमारी का रूप ले लेती हैं। और यूरिक एसिड के बढ़ने से किडनी की बिमारी जैसे किडनी की पथरी आदि हो सकती हैं। और अगर मरीज आधिक प्युरीन वाले खाद्य पदार्थो का सेवन कर रहा है तो यूरिक एसिड का बढ़ना सामान्य हो सकता हैं

यूरिक एसिड के लक्षण – टखने में दर्द, कमर दर्द, गर्दन में दर्द, घुठने में दर्द, गठिया और आर्थराइटीस जैसी परेशानियां देखने को मिलती हैं। लेकिन शुरुआत में यूरिक एसिड बढ़ने का पता नहीं लग पाता। ज्यादातर लोगों को तो इस बारे में पता भी नहीं होता हैं की यूरिक एसिड के बढ़ने का पता केसे लगाएं की यूरिक एसिड बढ़ रहा हैं।

इसके लक्षण कुछ ऐसे सामने आते हैं उँगलियों में सूजन होना, जोड़ो में गाँठ की शिकायत होना जिससे की जोड़ों में दर्द का होना,उठने-बैठने में परेशानी होना, पैरों और हाथों की उंगलियों में चुभन वाला दर्द होना और ये दर्द कभी-कभी तो असहनीय भी हो जाता हैं इससे (uric acid) वाला मरीज जल्दी थक जाता हैं इसलिए इन लक्षणों को नजर अंदाज नहीं करें इसका इलाज जरुर करें।

यूरिक एसिड बढ़ने पर क्या नहीं खाना चाहिए – यदि आपका यूरिक एसिड का स्तर ज्यादा बढ़ गया हैं तो अधिक प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थो को न खाएँ प्रोटीन वाले 100 ग्राम खाद्य पदार्थो में 200 मिली ग्राम प्युरीन होता हैं। जब यूरिक एसिड बढ़ता हैं तो हाई प्युरीन फ़ूड खाने से जाने की ऐसी चीज हैं,

जिम में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती हैं। अगर आपकी बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ गया हैं तो सबसे पहली चीज आपको ऐसी चीज अपने डाईट चार्ट में आनी हैं जिनमें ड्यूरिंग ज्यादा हैं जैसे की नॉनवेज में मटन-चिकन या फिर अगर हम वेजिटेरियन फूड्स में बात करें तो उडद की दाल तुवर की दाल राजमा छोले यह सारी चीजे बंद करना चाहिए।

यूरिक एसिड कम करने के लिए क्या खाना चाहिए – यूरिक एसिड के मरीज को हरी सब्जियां जैसे हरी पत्तेदार पालक,बथुआ, बैंगन,मशरूम आदि। फल और पेय पदार्थ सेब का सिरका में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीफ्लेमेंटरी गुण होते हैं,

और हरा धनिया जो शरीर के एसिड लेवल को संतुलन बनाएँ रखने में मदद करते हैं। ग्रीन टी,कॉफ़ी और साबूत अनाज में ओट्स,ब्राउन राईस ओर जौ खाना चाहिए। सुखें मेवे बादाम, किशमिश, अखरोट, काजू आदि रात को भिगोकर सुबह खाएँ। उच्च यूरिक एसिड में आप संतरे,कीनू,पपीता, और चेरी जैसे विटामिन c से भरपूर फल खाएँ।

सेब,नाशपाती, अन्नास,एवोकाडो ये कम प्युरिन वाले फल हैं इसलिए इन्हें खाया भी जा सकता हैं। 7 मसूर की दाल,बिन्स,सोयाबीन और टोफू सब यूरिक एसिड को कम करते हैं,और डाईट में उन चीजों को शामिल करें जिनमें फाइबर हो ये भी शरीर के एसिड लेवल को बनाएँ रखने में मदद करते हैं।

रक्त में यूरिक एसिड (हाइपरयुरिसीमिया) के बढ़ने के लक्षण – सामान्य तौर पर केवल एक-तिहाई लोगों में ही हाइपरयुरिसीमिया के लक्षण दिखाई देते हैं। इसलिए इसे अलक्षणिक (asymptomatic) हाइपरयुरिसीमिया भी कहते हैं। हालांकि हाइपरयुरिसीमिया एक बिमारी नहीं हैं,लेकिन यूरिक एसिड का स्तर निरंतर उच्च रहता हैं।

तो समय के साथ इससे कई बीमारियाँ हो सकती हैं। यूरिक एसिड का बढ़ना जैसे पथरी बनने का कारण भी बन सकता हैं। यूरिक एसिड मात्रा एंडोथेलियल नाइट्रिक ऑक्साइड जैसे जरूरी तत्व को कम कर देता हैं इस वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ने का खतरा बढ़ जाता हैं।

नॉर्मल यूरिक एसिड कितना होना चाहिए – महिलाओं में यूरिक एसिड का नॉर्मल लेवल 2.4 से 6.0 mg/dl और पुरषों में 3.4 से 7.0 mg/dl होना होना चाहिए। इसका बनना इतना खतरनाक नहीं हैं। आमतौर पर हर व्यक्ति में यह कम या ज्यादा बनता हैं,और यूरिन के जरिये बाहर निकल जाता हैं।

⇒आपकी एक छोटी सी गलती और आपका पूरा खाना सड़ गया समझो⇐ click करे